फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News महाराष्ट्रमेरे जैसा नाम रख मेरे ही खिलाफ उतरा, सत्ता की हनक में शिवसेना उम्मीदवार ने निर्दलीय कैंडिडेट को पीटा

मेरे जैसा नाम रख मेरे ही खिलाफ उतरा, सत्ता की हनक में शिवसेना उम्मीदवार ने निर्दलीय कैंडिडेट को पीटा

Maharashtra MLC Election: यह घटना नासिके के संभागीय आयुक्त कार्यालय परिसर में हुई। इसमें शिवसेना उम्मीदवार किशोर भीकाजी दराडे ने अपने हमनाम को नामांकन दाखिल करने से रोकने की कोशिश की।

मेरे जैसा नाम रख मेरे ही खिलाफ उतरा, सत्ता की हनक में शिवसेना उम्मीदवार ने निर्दलीय कैंडिडेट को पीटा
Pramod Kumarभाषा,नासिकFri, 07 Jun 2024 10:08 PM
ऐप पर पढ़ें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में नासिक से राज्य की सत्ताधारी शिवसेना के एक उम्मीदवार ने शुक्रवार को उस निर्दलीय उम्मीदवार को कथित तौर पर पीट दिया जिसका नाम उनके नाम से मिलता जुलता था। शिवसेना उम्मीदवार का मानना ​​था कि यह मतदाताओं के बीच भ्रम पैदा करने और उनकी जीत की संभावनाओं को कम करने की एक चाल है।

नासिक संभाग शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के लिए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के उम्मीदवार किशोर भीकाजी दराडे और अहमदनगर के कोपरगांव निवासी निर्दलीय उम्मीदवार किशोर प्रभाकर दराडे के समर्थकों के बीच नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन कहासुनी के बाद हाथापाई होने पर पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा।

यह घटना यहां संभागीय आयुक्त कार्यालय परिसर में हुई। इसमें शिवसेना उम्मीदवार किशोर भीकाजी दराडे ने अपने हमनाम को नामांकन दाखिल करने से रोकने की कोशिश की। किशोर भीकाजी दराडे इस निर्वाचन क्षेत्र से विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) भी हैं।

एमएलसी ने दावा किया कि हमनाम एक अज्ञात व्यक्ति था और उसे प्रतिद्वंद्वी शिवसेना (यूबीटी) के संदीप गुलवे द्वारा चुनाव मैदान में उतारा गया। नासिक संभाग शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के लिए चुनाव हमनाम की लड़ाई बनता जा रहा है, क्योंकि संदीप गुलवे नाम के तीन व्यक्ति मैदान में हैं।

एमएलसी दराडे ने किसी के साथ मारपीट करने के आरोपों का खंडन किया, और उन्हें तथा दूसरे दराडे को नासिक रोड पुलिस थाने ले जाया गया। हालांकि, देर शाम तक मारपीट के संबंध में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया था। इस सीट के लिए कुल 40 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किया है जिनमें दो दराडे और तीन गुलवे शामिल हैं।

नामांकन पत्रों की जांच 10 जून को होगी और नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 12 जून है। मतदान 26 जून को होगा और परिणाम एक जुलाई को घोषित किए जाएंगे।

Advertisement