फोटो गैलरी

Hindi News महाराष्ट्रभाई दूज लेकर अजित पवार के घर गईं सुप्रिया सुले, पिता शरद पवार भी थे साथ

भाई दूज लेकर अजित पवार के घर गईं सुप्रिया सुले, पिता शरद पवार भी थे साथ

अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार, उनके बेटे पार्थ पवार और जय पवार के साथ-साथ पवार परिवार के अन्य सदस्य भी बारामती के काटेवाड़ी इलाके में स्थित उपमुख्यमंत्री के घर पर इकट्ठे हुए।

भाई दूज लेकर अजित पवार के घर गईं सुप्रिया सुले, पिता शरद पवार भी थे साथ
Amit Kumarपीटीआई,बारामतीWed, 15 Nov 2023 06:08 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) संस्थापक शरद पवार और उनकी बेटी व सांसद सुप्रिया सुले सहित पवार परिवार के सदस्य बुधवार को भाऊ बीज (भाई दूज) के मौके पर अजित पवार के घर पहुंचे। भाई दूज लेकर अपने पिता के साथ सुप्रिया सुले पुणे जिले के बारामती में स्थित महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार के घर गईं। अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार, उनके बेटे पार्थ पवार और जय पवार के साथ-साथ पवार परिवार के अन्य सदस्य भी बारामती के काटेवाड़ी इलाके में स्थित उपमुख्यमंत्री के घर पर इकट्ठे हुए।

हर साल, पवार परिवार के सदस्य दिवाली के दौरान बारामती में भाई दूज (भाऊ बीज) मनाने के लिए एक साथ आते हैं। गौरतलब है कि अजित पवार के राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) से अलग होने और भाजपा तथा एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना से हाथ मिलाने के बाद यह परिवार की पहली दिवाली है।

उन्होंने मूल रूप से शरद पवार (82) द्वारा स्थापित पार्टी और उसके प्रतीक पर दावा करने के लिए भारत के चुनाव आयोग का रुख भी किया है। इससे पहले मंगलवार शाम को अजित पवार दिवाली पड़वा मनाने के लिए बारामती में शरद पवार के घर गए थे। बाद में, सुप्रिया सुले ने इस बैठक की तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा कीं और लिखा, "सौभाग्यशाली! बारामती में हमारी परंपराओं की सुंदरता को गर्व के साथ अपनाते हुए।"

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार मंगलवार को अपने गृहनगर बारामती में दिवाली पड़वा के अवसर पर आयोजित वार्षिक कार्यक्रम में अपने शुभचिंतकों से मिले लेकिन इस दौरान उनके भतीजे और महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार मौजूद नहीं थे। पवार परिवार हर साल पुणे जिले के बारामती शहर में स्थित अपने गोविंदबाग निवास में दिवाली पड़वा मनाता है। राकांपा कार्यकर्ताओं और नेताओं सहित राज्य भर से हजारों लोग शरद पवार को शुभकामनाएं देने बारामती पहुंचते हैं।

इस साल भी 82 वर्षीय नेता शरद पवार को शुभकामनाएं देने उनके आवास पर भारी भीड़ जमा हुई। इस कार्यक्रम में उनकी बेटी और राकांपा की लोकसभा सदस्य सुप्रिया सुले भी मौजूद थीं। यह पूछे जाने पर कि क्या अजित पवार कार्यक्रम में शामिल होंगे और अपने चाचा से मिलेंगे, सुले ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘अजित दादा डेंगू से पीड़ित हैं और पिछले 21 दिन से डॉक्टरों की सलाह पर आराम कर रहे हैं।’’ उन्होंने यह भी कहा कि राकांपा विधायक और शरद पवार के पोते रोहित पवार अपनी युवा संघर्ष यात्रा के लिए बीड में हैं।

उल्लेखनीय है कि अजित पवार ने शुक्रवार को यहां शरद पवार से मुलाकात की थी जिसे लेकर राज्य के राजनीतिक गलियारों में अटकलें तेज हो गईं। हालांकि, बाद में सुले ने कहा कि यह राजनीतिक मुलाकात नहीं थी। सुले ने कहा, ‘‘भले ही हमारी राजनीतिक विचारधाराएं अलग-अलग हों, फिर भी हम अपने व्यक्तिगत संबंध बनाए रखते हैं। पेशेवर और निजी जिंदगी में अंतर होता है।’’ जुलाई में महाराष्ट्र में अजित पवार के नेतृत्व वाले समूह के एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार में शामिल होने के बाद चाचा और भतीजे के बीच यह दूसरी ऐसी मुलाकात थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें