फोटो गैलरी

Hindi News महाराष्ट्रशरद पवार की पार्टी को मिला नया चुनाव निशान, नए सिंबल की खास बात क्या? ऐसा रहा पहला रिएक्शन

शरद पवार की पार्टी को मिला नया चुनाव निशान, नए सिंबल की खास बात क्या? ऐसा रहा पहला रिएक्शन

शरद पवार की पार्टी को नया चुनाव सिंबल दे दिया गया है। चुनाव आयोग ने गुरुवार रात इसकी घोषणा की। शरद पवार की पार्टी को चुनाव निशान के तौर पर तुरहा बजाता हुआ आदमी मिला है। इस पर प्रतिक्रिया आई है।

शरद पवार की पार्टी को मिला नया चुनाव निशान, नए सिंबल की खास बात क्या? ऐसा रहा पहला रिएक्शन
Deepakलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईFri, 23 Feb 2024 12:19 AM
ऐप पर पढ़ें

शरद पवार की पार्टी को नया चुनाव सिंबल दे दिया गया है। चुनाव आयोग ने गुरुवार रात इसकी घोषणा की। शरद पवार की पार्टी को चुनाव निशान के तौर पर तुरहा बजाता हुआ आदमी दिया गया है। गौरतलब है कि बीते दिनों शरद पवार के भतीजे अजित पवार को एनसीपी का नाम और चुनाव निशान घड़ी दे दी गई थी। चुनाव आयोग ने अजित पवार गुट को असली शिवसेना मानते हुए यह फैसला सुनाया था। बता दें कि बीते दिनों अजित पवार, छगन भुजबल, प्रफुल्ल पटेल व कुछ अन्य दिग्गज नेताओं को साथ लेकर भाजपा और शिंदे गुट की सेना की सरकार में चले गए थे। यहां पर अजित पवार को डिप्टी सीएम पद दिया गया था।

पार्टी की प्रतिक्रिया
तुरहा एक पारंपरिक वाद्ययंत्र है, जिसे तुतरी के नाम से भी जाना जाता है। एनसीपी (शरदचंद्र पवार) ने चुनाव आयोग के इस फैसले के बाद सोशल मीडिया साइट एक्स पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। पार्टी ने लिखा कि छत्रपति शिवाजी महाराज के महान पराक्रम के रूप में तुतरी ने कभी दिल्ली के बादशाह को बहरा कर दिया था। हमें खुशी है कि आने वाले चुनाव के लिए हम तुतरी (तुरहा बजाता आदमी) चुनाव निशान मिला है। आगे लिखा गया है कि शरदचंद्र पवार के नेतृत्व में हमारी तुतरी दिल्ली के बादशाह का सिंहासन हिला देगी। 

कोर्ट ने दिया था निर्देश
अजित पवार के नेतृत्व वाले गुट के पक्ष में चुनाव आयोग का आदेश 7 फरवरी को दिया गया था। इसके बाद सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि शरद पवार खेमे को दिया गया नाम अगले आदेश तक जारी रहेगा। सात फरवरी के आदेश के खिलाफ शरद पवार खेमे की याचिका पर सुनवाई करते हुए बेंच ने राकांपा संस्थापक को चुनाव चिह्न के लिए चुनाव आयोग से संपर्क करने की छूट दी थी। अदालत ने चुनाव आयोग को यह भी निर्देश दिया था कि शरद पवार खेमे के आवेदन करने के एक हफ्ते के भीतर चुनाव चिन्ह आवंटित किया जाए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें