फोटो गैलरी

Hindi News महाराष्ट्रNCP-शरदचंद्र पवार; शरद पवार गुट को मिला नया नाम, चुनाव चिह्न क्या होगा

NCP-शरदचंद्र पवार; शरद पवार गुट को मिला नया नाम, चुनाव चिह्न क्या होगा

Nationalist Congress Party - Sharadchandra Pawar: सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि शरद गुट ने पोल पैनल के आदेश पर नई पार्टी के लिए नाम और निशान के सुझाव दे दिए। जिसमें नाम फाइनल हो गया है।

NCP-शरदचंद्र पवार; शरद पवार गुट को मिला नया नाम, चुनाव चिह्न क्या होगा
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईWed, 07 Feb 2024 06:44 PM
ऐप पर पढ़ें

Nationalist Congress Party - Sharadchandra Pawar: एनसीपी का नाम और चुनाव चिह्न छिनने के बाद शरद पवार गुट को चुनाव आयोग ने आज शाम तक का वक्त देते हुए तीन नाम और तीन चुनाव चिह्न के ऑप्शन मांगे थे। सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि शरद गुट ने पोल पैनल के आदेश पर नई पार्टी के लिए नाम और निशान के सुझाव दे दिए। जिसमें शरद पवार गुट का नया नाम फाइनल हो गया है। चुनाव आयोग ने शरद पवार गुट को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी- शरदचंद्र पवार नाम दिया है।

इससे एक दिन पहले 6 फरवरी को चुनाव आयोग ने शरद पवार गुट को तगड़ा झटका देते हुए असली एनसीपी अजीत पवार गुट के हवाले कर दिया। आयोग के मुताबिक, पिछले 6 महीने में 10 बार की सुनवाई के बाद पोल पैनल ने यह फैसला लिया। हालांकि फैसले के बाद शरद पवार गुट ने तीखी प्रतिक्रिया दी और चुनाव आयोग की कड़ी आलोचना की। शरद पवार गुट इस प्रकरण पर सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगा चुका है। जवाब में अजीत पवार गुट भी सुप्रीम कोर्ट में कैविएट याचिका दायर कर चुका है। 

शरद गुट ने क्या नाम और चिह्न सुझाए थे
शरद पवार गुट ने चुनाव आयोग को अपनी पार्टी के लिए तीन नाम और प्रतीक सौंपे थे। चुनाव आयोग ने शरद गुट को आज शाम पांच बजे तक का वक्त दिया था। सूत्रों के मुताबिक, शरद पवार के गुट ने जो नाम प्रस्तावित किए थे, उसमें शरद पवार कांग्रेस, एमआई राष्ट्रवादी, शरद स्वाभिमानी और तीन प्रतीक के रूप में- 'चाय का कप', 'सूरजमुखी' और 'उगता सूरज'के सुझाव दिए थे। चुनाव आयोग ने शरद पवार गुट को नया नाम दे दिया है- NCP-शरदचंद्र पवार।

आयोग के फैसले से अजीत गुट में खुशी की लहर
उधर, चुनाव आयोग के फैसले पर जहां शरद गुट ने कड़ी आपत्ति जताई है तो वहीं, अजीत पवार गुट ने फैसले का स्वागत किया है। गौरतलब है कि अजीत पवार पिछले साल जुलाई में एनसीपी के अधिकांश विधायकों के साथ भाजपा और शिंदे गुट की शिवसेना के साथ गठबंधन में चले गए थे और महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार में डिप्टी सीएम का पदभार ग्रहण किया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें