फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News महाराष्ट्रचुनाव अधिकारियों को धमकाकर पा ली सत्ता, 30 और सीटों पर हारी थी भाजपा: संजय राउत

चुनाव अधिकारियों को धमकाकर पा ली सत्ता, 30 और सीटों पर हारी थी भाजपा: संजय राउत

संजय राउत ने कहा कि अगर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत को लगता है कि केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार देश के हित में नहीं है तो उन्हें इसे गिरा देना चाहिए।

चुनाव अधिकारियों को धमकाकर पा ली सत्ता, 30 और सीटों पर हारी थी भाजपा: संजय राउत
fadnavis offered to resign to put pressure on yogi adityanath claims sanjay raut
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,मुंबई।Fri, 14 Jun 2024 11:10 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद समीक्षाओं का दौर जारी है। शिवसेना (यूबीटी) नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत का आरोप है कि भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव अधिकारियों को धमकाकर यह सत्ता पाई है। उन्होंने यह भी दावा किया है कि बीजेपी और 30 सीटों पर चुनाव हार रही थी। हालांकि उन्होंने अपने वादों की पुष्टि के लिए कोई सबूत नहीं दिए हैं।

संजय राउत ने कहा, "लोकतंत्र में जनता भगवान होती है। 30 से ज्यादा सीटें ऐसी हैं जहां बीजेपी हारी है लेकिन चुनाव अधिकारियों को डरा-धमका कर जीत हासिल कर ली। बीजेपी पूरी तरह से हार गई है। पीएम मोदी और अमित शाह हार गए हैं। पीएम मोदी वाराणसी में हार गए हैं। आपको अयोध्या, चित्रकूट, नासिक और रामेश्वरम में हार का सामना करना पड़ा। भगवान सब देख रहे हैं। जहां-जहां भगवान श्री राम रहे, वहां भाजपा हार गई।"

नायडू-नीतीश असंतुष्ट: संजय राउत
इससे पहले संजय राउत ने मंगलवार को दावा किया था कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे के बाद भाजपा के सहयोगी नीतीश कुमार और एन चंद्रबाबू नायडू असंतुष्ट हैं। राउत ने प्रधानमंत्री मोदी द्वारा एनसीपी प्रमुख शरद पवार के लिए इस्तेमाल किये गये शब्द 'भटकती आत्मा' का भी जिक्र किया और कहा कि यह भटकती बेचैन आत्मा तब तक चैन से नहीं बैठेगी जब तक कि केन्द्र और महाराष्ट्र में भाजपा नीत सरकारों को बेदखल नहीं कर दिया जाता है।

राज्यसभा सदस्य ने कहा कि अगर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत को लगता है कि केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार देश के हित में नहीं है तो उन्हें इसे गिरा देना चाहिए।

संजय राउत ने कहा था, "केंद्र में दो अतृप्त आत्माएं हैं। नीतीश कुमार और चंद्रबाबू नायडू। भाजपा को इन दो अतृप्त आत्माओं को संतुष्ट करना चाहिए। जिस तरह से विभागों का बंटवारा किया गया है, उससे ऐसा लगता है कि सभी आत्माएं असंतुष्ट हैं, खासकर राजग के सहयोगी।"