DA Image
27 अक्तूबर, 2020|6:47|IST

अगली स्टोरी

राहुल गांधी के साथ 'बुरे बर्ताव' के लिए शरद पवार ने की UP पुलिस की निंदा

ncp chief sharad pawar  file pic

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के काफिले को रोके जाने पर पार्टी प्रमुख शरद पवार सहित एनसीपी नेताओं ने उत्तर प्रदेश सरकार की आलोचना की। कांग्रेस नेता हाथरस पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे थे और इसी दौरान पुलिस ने उनके काफिले को रोक लिया।

उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा ग्रेटर नोएडा में रोके जाने के बाद कांग्रेस नेता पैदल ही हाथरस की ओर बढ़ गए और बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। पवार ने ट्वीट किया कि राहुल गांधी के प्रति उत्तरप्रदेश पुलिस का 'बुरा बर्ताव' अति निंदनीय है।

पवार ने ट्वीट किया, ''यह उन लोगों के लिए निंदनीय है जिन पर कानून बनाए रखने का जिम्मा है लेकिन वे इस तरह से लोकतांत्रिक मूल्यों को कुचल रहे हैं।'' पवार का समर्थन करते हुए महाराष्ट्र के मंत्री और राज्य एनसीपी के अध्यक्ष जयंत पाटिल ने आरोप लगाया कि घटना से बीजेपी के यह व्यवहार उजागर होता है कि वह भगवान राम का नाम लेती है लेकिन नाथूराम की तरह काम करती है। उनका इशारा नाथूराम गोडसे द्वारा महात्मा गांधी की हत्या की तरफ था। उन्होंने कहा, ''एक प्रमुख पार्टी के प्रमुख नेता के साथ इस तरह का व्यवहार निंदनीय है।''

महाराष्ट्र के गृह मंत्री और राकांपा के नेता अनिल देशमुख ने यहां संवाददाताओं से कहा कि परिवार को सांत्वना देने के लिए वहां जा रहे किसी भी राजनीतिक दल के नेता को नहीं रोका जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ''मुझे आश्चर्य हो रहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने पार्टी के एक वरिष्ठ नेता को परिजन से नहीं मिलने दिया। यह बहुत गंभीर मुद्दा है। एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने भी उत्तर प्रदेश पुलिस की कार्रवाई की निंदा की।''

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Reckless behaviour of UP Police towards rahul gandhi is extremely condemnable says sharad pawar