फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ महाराष्ट्र'बागी विधायकों को कीमत चुकानी होगी', पवार बोले- विधानसभा में होगा बहुमत का फैसला

'बागी विधायकों को कीमत चुकानी होगी', पवार बोले- विधानसभा में होगा बहुमत का फैसला

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि महा विकास अघाड़ी सरकार इस संकट से उबर जाएगी। उन्होंने कहा, "शक्ति परीक्षण तय करेगा कि किसके पास बहुमत है।

'बागी विधायकों को कीमत चुकानी होगी', पवार बोले- विधानसभा में होगा बहुमत का फैसला
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईThu, 23 Jun 2022 08:15 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे की बगावत से महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट पैदा हो गया है। सत्ताधारी महा विकास अघाड़ी गठबंधन सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। इस बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष शरद पवार ने बागी विधायकों को चेतावनी देते हुए कहा है कि उन्हें कीमत चुकानी होगी। गुरुवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पवार ने कहा कि उद्धव सरकार के पास बहुमत है और एनसीपी उनका पूरा समर्थन करेगी।

मुंबई में एनसीपी प्रमुख ने कहा, "एमवीए ने सीएम उद्धव ठाकरे को समर्थन देते रहने का फैसला किया है। मेरा मानना है कि एक बार (शिवसेना) विधायक मुंबई लौट आएंगे तो स्थिति बदल जाएगी।" इस बीच बहुमत को लेकर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उद्धव सरकार के पास बहुमत है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि बहुमत का फैसला विधानसभा में होगा और एक बार जब सभी विधायक मुंबई आ जाएंगे तो तस्वीर कुछ और होगी। उन्होंने कहा, "यह वक्त किसी की गलतियां निकालने का नहीं है।" राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि महा विकास अघाड़ी सरकार इस संकट से उबर जाएगी। उन्होंने कहा, "शक्ति परीक्षण तय करेगा कि किसके पास बहुमत है।

महाराष्ट्र संकटः क्या कदम उठा सकते हैं राज्यपाल? जानकारों ने बताया क्या हैं शक्तियां

पवार ने भाजपा पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, "सब जानते हैं कि कैसे शिवसेना के बागी विधायकों को गुजरात और फिर असम ले जाया गया। हमें उनकी मदद करने वालों का नाम लेने की जरूरत नहीं है...असम सरकार उनकी मदद कर रही है। मुझे आगे किसी का नाम लेने की जरूरत नहीं है।"

शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र के 40 विधायक उनके साथ असम के गुवाहाटी आए हैं और वे सभी, पार्टी के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे की 'हिंदुत्व' विचारधारा के लिए प्रतिबद्ध हैं। एकनाथ शिंदे ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम बालासाहेब ठाकरे की हिंदुत्व की विचारधारा को लेकर प्रतिबद्ध हैं और हम इसे आगे ले जाना चाहते हैं।’’ बागियों के इस बयान पर शरद पवार ने कहा, "हिंदुत्व उनके लिए सिर्फ एक बहाना है। जब गठबंधन चल रहा था तो उन्होंने हिंदुत्व के बारे में क्यों नहीं सोचा। उन्होंने इस विषय को कभी नहीं उठाया। उन सभी को मुंबई आने दो, फिर देखेंगे।"

दबाव में कितना झुकेंगे उद्धव ठाकरे और क्या करेंगे एकनाथ शिंदे, महाराष्ट्र में पैदा हो सकते हैं ये 5 हालात

इससे पहले एनसीपी नेता व महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने स्पष्ट कर दिया है कि उनकी पार्टी संकट की इस घड़ी में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ खड़ी है। विधायक एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना के विद्रोही समूह ने दावा किया है कि उसके पास अब 42 विधायक हैं। पवार ने संवाददाताओं से कहा, "हम उद्धव ठाकरे जी का पूरा समर्थन करते हैं। हम सरकार को बचाने के लिए सब कुछ करेंगे।"

epaper