फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News महाराष्ट्रफिर से दिखाऊंगा सड़क पर खेल; क्या पोर्श चलाने वाले नाबालिग ने किया रैप? मां ने बताई वायरल वीडियो की सच्चाई

फिर से दिखाऊंगा सड़क पर खेल; क्या पोर्श चलाने वाले नाबालिग ने किया रैप? मां ने बताई वायरल वीडियो की सच्चाई

इस वायरल वीडियो में एक लड़का पुणे हादसे पर रैप करता दिख रहा है। वह वीडियो में एक दिन में मुझे मिल गई बेल, फिर से सड़क पर दिखाऊंगा खेल जैसे शब्दों से बने हुए रैप सॉन्ग को गा रहा है।

फिर से दिखाऊंगा सड़क पर खेल; क्या पोर्श चलाने वाले नाबालिग ने किया रैप? मां ने बताई वायरल वीडियो की सच्चाई
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,पुणेFri, 24 May 2024 03:04 PM
ऐप पर पढ़ें

Pune Porsche Car Accident: पुणे सड़क हादसे के आरोपी नाबालिग को पांच जून तक बाल सुधार गृह भेजा जा चुका है। लग्जरी पॉर्श कार से नाबालिग आरोपी ने दो आईटी प्रोफेशल्स को टक्कर मार दी थी, जिसमें दोनों की जान चली गई। पहले जुवेनाइल कोर्ट ने आरोपी को कुछ ही घंटों में जमानत भी दे दी और निबंध लिखने जैसी शर्तें लगाईं। फैसले की आलोचना होने के बाद उसे दोबारा बाल सुधार गृह में भेजा गया और पिता को भी हिरासत में लिया गया। इस बीच, बीते दिन से सोशल मीडिया पर एक रैप सॉन्ग का वीडियो वायरल हुआ, जिसमें दावा किया गया कि यह वीडियो आरोपी का तब का है, जब वह जमानत से रिहा हुआ।

इस वायरल वीडियो में एक लड़का पुणे हादसे पर रैप करता दिख रहा है। वह वीडियो में एक दिन में मुझे मिल गई बेल, फिर से सड़क पर दिखाऊंगा खेल जैसे शब्दों से बने हुए रैप सॉन्ग को गा रहा है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर कुछ ही घंटों में वायरल हो गया और दावा किया जाने लगा कि यह वही लड़का है, जिसने पोर्श कार से दो लोगों की हत्या कर दी।  सोशल मीडिया यूजर्स आरोपी पर काफी भड़क गए। हालांकि, अब नाबालिग आरोपी की मां ने एक वीडियो जारी करते हुए बताया है कि यह उनका बेटा (नाबालिग आरोपी) नहीं, बल्कि कोई और है। 

नाबालिग की मां ने रोते हुए वीडियो बनाया और कहा कि क्लिप का उनके बेटे से कोई लेना-देना नहीं है और यह फेक है। आरोपी की मांने अपने संदेश में कहा, "जो वीडियो प्रसारित किया जा रहा है वह मेरे बेटे का नहीं है। वह एक फर्जी वीडियो है। मेरा बेटा हिरासत केंद्र में है।" पुलिस से अपने बेटे की रक्षा करने की अपील करते हुए नाबालिग की मां फूट-फूटकर रोते हुए भी दिखाई दीं। वहीं, पुणे पुलिस ने भी स्पष्ट किया है कि यह एक फर्जी अकाउंट था और वीडियो से नाबालिग आरोपी का कोई लेना-देना नहीं है। बाद में पता चला कि यह रैप वीडियो एक सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर का था।