फोटो गैलरी

Hindi News महाराष्ट्रयात्रियों के लिए खुशखबरी, इन रूटों पर दौड़ेंगी 2 नई ट्रेनें; पीएम मोदी कल दिखाएंगे हरी झंडी

यात्रियों के लिए खुशखबरी, इन रूटों पर दौड़ेंगी 2 नई ट्रेनें; पीएम मोदी कल दिखाएंगे हरी झंडी

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से कहा गया कि यह नई ट्रेन सर्विस रेल कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने में मदद करेंगी। साथ ही यहां के छात्रों और व्यापारियों को भी काफी लाभ मिलने वाला है।

यात्रियों के लिए खुशखबरी, इन रूटों पर दौड़ेंगी 2 नई ट्रेनें; पीएम मोदी कल दिखाएंगे हरी झंडी
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईTue, 27 Feb 2024 05:22 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाराष्ट्र के लोगों को बुधवार को कई बड़ी सौगातें देने वाले हैं। इसी कड़ी में वह 1300 करोड़ रुपये से अधिक की रेल परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे। बड़े प्रोजेक्ट में वर्धा-कालंब ब्रॉड गेज लाइन शामिल है, जो वर्धा-यवतमाल-नांदेड़ नई ब्रॉड गेज लाइन परियोजना का हिस्सा है। इसके अलावा, न्यू अष्टी-अमलनेर ब्रॉड गेज लाइन प्रोजेक्ट भी है जो अहमदनगर-बीड-परली नई ब्रॉड गेज लाइन का हिस्सा है। पीएम मोदी महाराष्ट्र में कुल मिलाकर 4,900 करोड़ रुपये से अधिक की रेल, सड़क और सिंचाई से संबंधित परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे।

पीएम मोदी इस दौरान वर्चुअली 2 ट्रेनों को भी हरी झंडी दिखाने वाले हैं। इनमें एक कलंब और वर्धा को जोड़ने वाली रेल सर्विस है। दूसरी अमलनेर और न्यू आष्टी को जोड़ने वाली ट्रेन सेवा शामिल है। प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से इसे लेकर बयान जारी किया गया है। इसमें कहा गया कि यह नई ट्रेन सेवा रेल कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने में मदद करेंगी। साथ ही यहां के छात्रों और व्यापारियों को भी काफी लाभ मिलने वाला है। बताया जा रहा है कि इस ट्रेन कनेक्टिविटी की मांग लंबे समय से यहां के लोगों की ओर से की जा रही थी। अब मांगें पूरी होने से स्थानीय लोग बहुत खुश हैं।

 41,000 करोड़ रुपये के रेलवे प्रोजेक्ट्स 
इससे पहले सोमवार को पीएम मोदी ने 41,000 करोड़ रुपये से अधिक की लगभग 2,000 रेलवे बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया था। इस दौरान उन्होंने कुछ परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित भी किया। मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ‘प्रधानमंत्री अमृत भारत स्टेशन योजना’ के तहत 553 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास का शिलान्यास किया। 27 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में स्थित इन स्टेशनों का 19,000 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से पुनर्विकास किया जाएगा। पीएमओ के मुताबिक ये स्टेशन शहर के दोनों किनारों को एक साथ मिलाते हुए 'शहर के केंद्र' के रूप में कार्य करेंगे। इन स्टेशनों पर सुंदर भूदृश्य, इंटर मॉडल कनेक्टिविटी, बच्चों के खेलने का क्षेत्र, कियोस्क, फूड कोर्ट समेत आधुनिक यात्री सुविधाएं उपलब्ध होगी।
(एजेंसी इनपुट के साथ)

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें