फोटो गैलरी

Hindi News महाराष्ट्रमोबाइल रिपेयरिंग के बहाने निकालता प्राइवेट फोटो, फिर ब्लैकमेल कर रेप; कइयों को बनाया शिकार

मोबाइल रिपेयरिंग के बहाने निकालता प्राइवेट फोटो, फिर ब्लैकमेल कर रेप; कइयों को बनाया शिकार

मुंबई में एक फोन मैकेनिक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वह नाबालिग लड़कियों के मोबाइल फोन रिपेयरिंग के बहाने निजी तस्वीरें चोरी से ले लेता था और फिर ब्लैकमेल करके लड़कियों की इज्जत के साथ खेलता।

मोबाइल रिपेयरिंग के बहाने निकालता प्राइवेट फोटो, फिर ब्लैकमेल कर रेप; कइयों को बनाया शिकार
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईWed, 06 Dec 2023 08:59 AM
ऐप पर पढ़ें

मुंबई में एक मोबाइल फोन मैकेनिक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वह नाबालिग लड़कियों के मोबाइल फोन रिपेयरिंग के बहाने निजी तस्वीरें चोरी से ले लेता था और फिर ब्लैकमेल करके लड़कियों की इज्जत के साथ खेलता। पुलिस का कहना है कि ऐसे ही एक लड़की से इसने सोशल मीडिया के जरिए दोस्ती की और फिर प्राइवेट फोटोज से बदनाम करने की धमकी देकर कथित तौर पर रेप किया। आरोपी की एक महीने से तलाश की जा रही थी। पुलिस को शक है कि उसने इस तरह कई लड़कियों के साथ ऐसा किया है,  मामले में जांच चल रही है।

मुंबई की मीरा-भायंदर वसई विरार पुलिस ने मामले में जानकारी दी कि आरोपी की पहचान 21 साल के आदित्य भगत के रूप में हुई है। मामला तब प्रकाश में आया जब नालासोपारा की एक 17 वर्षीय लड़की ने आत्महत्या का प्रयास किया।

मामला यूं है कि भगत ने लड़की से दोस्ती के लिए फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। वह उन लड़कियों से दोस्ती करता था, जो अपना मोबाइल फोन उसके पास ठीक कराने के लिए पहुंच चुके थे। रिपेयरिंग के दौरान वह लड़कियों की प्राइवेट फोटोज ले लेता था। कुछ दिन सोशल मीडिया पर चेटिंग करने के बाद मिलने बुलाता और फायदा उठाता। पुलिस के अनुसार, जब लड़की और आरोपी गेस्ट हाऊस में मिले तो भगत ने शारिरिक संबंध बनाने की इच्छा जताई, जिसे लड़की ने इनकार कर दिया।

इसके बाद आरोपी ने लड़की को उसकी तस्वीरें इंटरनेट पर वायरल करने की चेतावनी दी। कथित तौर पर रेप हो जाने के बाद लड़की ने सुसाइड करने की कोशिश की। पुलिस ने मामले में आरोपी के खिलाफ धारा 376, 376 (2) और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम (POCSO) की धाराओं के तहत बलात्कार का मामला दर्ज किया है।

एमबीवीवी क्राइम ब्रांच के पीएसआई हितेंद्र विचारे ने बताया कि मामला संवेदनशील होने के कारण उन्होंने भी पुलिस के साथ मिलकर जांच शुरू कर दी है। मोबाइल फोन डेटा और अन्य तकनीकी पहलुओं का विश्लेषण करने के बाद, पुलिस ने भगत को सोमवार को भयंदर में उनकी मोबाइल रिपेयरिंग दुकान से गिरफ्तार कर लिया।

अपराध शाखा के एक अधिकारी ने कहा, "जब हमने उन मोबाइलों के सभी आईएमईआई नंबरों की जांच की, जिनके माध्यम से पीड़ितों को कॉल और संदेश मिले, तो हमने पाया कि फोन आरोपी की दुकान पर रिपेयरिंग के लिए दिए गए थे।" पुलिस अब इस बात की जांच कर रही है कि भगत ने और कितनी लड़कियों से संपर्क किया, ब्लैकमेल किया और बलात्कार किया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें