DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   महाराष्ट्र  ›  गरीबों और बगैर पहचान-पत्र वालों को इस मंदिर में लग रही मुफ्त में कोरोना वैक्सीन
महाराष्ट्र

गरीबों और बगैर पहचान-पत्र वालों को इस मंदिर में लग रही मुफ्त में कोरोना वैक्सीन

एएनआई,मुंबईPublished By: Shankar Pandit
Thu, 17 Jun 2021 09:47 AM
गरीबों और बगैर पहचान-पत्र वालों को इस मंदिर में लग रही मुफ्त में कोरोना वैक्सीन

मुंबई में गरीब और बगैर पहचान पत्र वाले लोग अब वैक्सीन के लिए मोहताज नहीं रहेंगे। मुंबई का एक जैन मंदिर उन भिखारियों और रेहड़ी-पटरी वालों का मुफ्त में टीकाकरण कर रहा है, जिनके पास कोई पहचान प्रमाण नहीं है। बता दें कि हाल ही में यह मंदिर कोरोना टीकाकरण केंद्र में बदल दिया गया था।

मंदिर में टीकाकरण प्रभारी जे शाह ने कहा कि यह पहल मानवीय है और चूंकि महामारी से खुद को बचाने का एकमात्र तरीका वैक्सीन है, इसलिए जिन लोगों को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है, उन्हें टीका लगाना अधिक महत्वपूर्ण है।

समाचार एजेंसी एएनआई से शाह ने कहा कि उन्हें एक विशेष सत्र के तहत टीका लगाया जा रहा है, जिसे हम डॉक्टरों की मदद से अपने टीकाकरण अभियान के दूसरे भाग में करते हैं। हम टीका लगाने से पहले उन्हें सलाह देते हैं क्योंकि उनमें से कई को महामारी के बारे में पता भी नहीं है और वे इंजेक्शन लेने में बहुत आनाकानी करते हैं।

फ्री टीकाकरण पहल की एक लाभार्थी अलका (घरेलू सहायिका) ने कहा कि मेरे पास कोई पहचान प्रमाण नहीं था या वैक्सीन लगवाने के लिए तकनीकी प्रक्रिया से अनजान थी। मुझे वैक्सीन के बारे में पता था और मैं अपनी खुराक लेने के लिए भी उत्सुक थी, मगर मैं पहले वैक्सीन नहीं ले पाई थी। 

संबंधित खबरें