फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News महाराष्ट्रकैबिनेट पद से कम मंजूर नहीं; शपथ ग्रहण समारोह से पहले अजित पवार ने दिखाए तेवर

कैबिनेट पद से कम मंजूर नहीं; शपथ ग्रहण समारोह से पहले अजित पवार ने दिखाए तेवर

महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और एनसीपी प्रमुख अजित पवार ने कहा कि प्रफुल्ल पटेल केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं और हमें स्वतंत्र प्रभार वाला राज्य मंत्री लेना ठीक नहीं लगा।

कैबिनेट पद से कम मंजूर नहीं; शपथ ग्रहण समारोह से पहले अजित पवार ने दिखाए तेवर
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईSun, 09 Jun 2024 06:21 PM
ऐप पर पढ़ें

Modi Cabinet 3.0: मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल की शुरुआत होने वाली है। नरेंद्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं, जबकि एनडीए के 69 नेता भी मोदी मंत्रिमंडल में शामिल होंगे। हालांकि, शपथ ग्रहण समारोह से पहले एनसीपी ने तेवर दिखाए हैं। एनसीपी चीफ और महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजित पवार ने कहा है कि उनकी पार्टी को कैबिनेट पद से कम कुछ मंजूर नहीं है। एनसीपी को राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार का पद ऑफर किया गया था, जिसे पार्टी ने स्वीकार नहीं किया।

महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और एनसीपी प्रमुख अजित पवार ने कहा, "प्रफुल्ल पटेल केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं और हमें स्वतंत्र प्रभार वाला राज्य मंत्री लेना ठीक नहीं लगा। इसलिए हमने उनसे (बीजेपी से) कहा कि हम कुछ दिन इंतजार करने को तैयार हैं, लेकिन हमें कैबिनेट पद चाहिए।'' उन्होंने आगे कहा, "आज हमारे पास एक लोकसभा और एक राज्यसभा सांसद है, लेकिन अगले 2-3 महीनों में हमारे पास राज्यसभा में कुल 3 सदस्य होंगे और संसद में हमारे सांसदों की संख्या 4 होगी। इसलिए हमने कहा कि हमें एक (कैबिनेट) सीट दी जानी चाहिए।" 

इससे पहले, महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी रविवार को कहा था कि अजित पवार की अगुवाई वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) नरेंद्र मोदी सरकार में कैबिनेट में जगह चाहती है और उन्होंने स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री (एमओएस) की भाजपा की पेशकश को ठुकरा दिया। उन्होंने कहा, "हमने एनसीपी को स्वतंत्र प्रभार वाले मंत्री की एक सीट की पेशकश की थी, लेकिन वह इस बात पर अड़ी थी कि (राज्यसभा सांसद) प्रफुल्ल पटेल के नाम को अंतिम रूप दिया जाए। उनके (पटेल के) अनुभव के कारण, एनसीपी का मानना ​​था कि उन्हें स्वतंत्र प्रभार वाला राज्य मंत्री नहीं बनाया जा सकता।" 

वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा, "गठबंधन सरकार में एक फॉर्मूला तैयार किया जाना चाहिए, जिसे एक पार्टी के लिए नहीं तोड़ा जा सकता। मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि जब भी कैबिनेट विस्तार होगा, (केंद्र) सरकार एनसीपी पर विचार करेगी। हमने अभी एनसीपी को शामिल करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने कैबिनेट पोर्टफोलियो पर जोर दिया।" महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के साथ सत्तारूढ़ गठबंधन का हिस्सा अजित पवार की अगुवाई वाली एनसीपी ने लोकसभा चुनावों में खराब प्रदर्शन किया, वह चार सीटों में से सिर्फ एक सीट (रायगढ़) जीत पाई। बारामती में भी पार्टी प्रतिष्ठा की लड़ाई हार गई, जहां अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार को एनसीपी (सपा) सांसद सुप्रिया सुले ने हरा दिया।

Advertisement