फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News महाराष्ट्रनागपुर में बस और ऑटोरिक्शा की जोरदार टक्कर, सेना के 2 जवानों की मौत और 6 घायल

नागपुर में बस और ऑटोरिक्शा की जोरदार टक्कर, सेना के 2 जवानों की मौत और 6 घायल

पुलिस अधिकारी ने बताया कि शाम करीब 5 बजे कैम्पटी शहर के पास कन्हा नदी पुल पर हुई दुर्घटना में ऑटो चालक को भी गंभीर चोटें आईं। उन्होंने बताया कि दुर्घटना के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है।

नागपुर में बस और ऑटोरिक्शा की जोरदार टक्कर, सेना के 2 जवानों की मौत और 6 घायल
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईMon, 17 Jun 2024 12:12 AM
ऐप पर पढ़ें

महाराष्ट्र में नागपुर के निकट रविवार शाम बस और ऑटोरिक्शा के बीच जोरदार टक्कर हो गई। इस दुर्घटना में सेना के 2 जवानों की मौत हो गई और 6 अन्य घायल हो गए, जिनमें से दो की हालत गंभीर है। पुलिस ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शाम करीब 5 बजे कैम्पटी शहर के पास कन्हा नदी पुल पर हुई दुर्घटना में ऑटो चालक को भी गंभीर चोटें आईं। उन्होंने बताया कि दुर्घटना के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। नागपुर के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के अनुसार, 7 घायल व्यक्तियों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि ऑटो में सवार 8 जवानों में से विघ्नेश और धीरज राय ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

पुलिस ने बताया कि अन्य घायल जवानों की पहचान दीन प्रधान, कुमार पी, शेखर जाधव, अरविंद, मुरुगन और नागरत्नम के रूप में हुई है। उसने बताया कि कैम्पटी के एक अस्पताल में भर्ती कुमार पी और नागपुर के सरकारी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में इलाज करा रहे नागरत्नम की हालत गंभीर है। अधिकारी ने बताया कि घायलों में शामिल ऑटो चालक शंकर खरकबान की भी हालत गंभीर है। नागपुर से करीब 20 किलोमीटर दूर कैम्पटी स्थित सेना के गार्ड रेजिमेंटल ट्रेनिंग सेंटर (जीआरसी) के कुल 15 जवान दो ऑटो में सवार होकर खरीदारी करने कन्हान गए थे।

छत का प्लास्टर गिरने से एक व्यक्ति और 2 बच्चे घायल
दूसरी ओर, ठाणे शहर में रविवार को एक घर की छत का प्लास्टर गिरने से एक व्यक्ति और उसके 2 नाबालिग बच्चे घायल हो गए। नगर निगम के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। ठाणे नगर निगम के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के प्रमुख यासीन तड़वी ने बताया कि यह घटना तड़के करीब साढ़े तीन बजे हुई। कोपरी क्षेत्र के मिठबंदर रोड पर स्थित चार मंजिला इमारत में यह घर बना था। इस इमारत को खतरनाक की श्रेणी में रखा गया है। अधिकारी ने बताया कि 30 से 35 साल पुरानी इस इमारत में 20 घर (फ्लैट) हैं, जिसमें वर्तमान में 65 लोग रहते हैं। यह इमारत फिलहाल सहकारिता विभाग के प्रशासक के नियंत्रण में है।