DA Image
25 सितम्बर, 2020|2:55|IST

अगली स्टोरी

महाराष्ट्रः बाढ़ प्रभावित इलाकों से 53,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया

file photo

मध्य प्रदेश में हुई भारी बारिश के कारण इससे लगे महाराष्ट्र के विदर्भ के कई इलाकों में बाढ़ आ गई है। विदर्भ के बाढ़ प्रभावित नागपुर, गढ़चिरौली, भंडारा और चंद्रपुर जिले के लगभग 175 गांवों के 53,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

नागपुर संभागीय आयुक्त द्वारा जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इन चार जिलों में पिछले कुछ दिनों में बाढ़ और भारी बारिश से 92,000 लोग प्रभावित हुए हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ), राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) और सेना सहित 11 बचाव और राहत दल चंद्रपुर और भंडारा जिलों में लगे हुए हैं।

पूर्वी विदर्भ क्षेत्र और मध्य प्रदेश में सप्ताहांत के दौरान हुई लगातार बारिश के बाद, महाराष्ट्र और पड़ोसी राज्य के विभिन्न बांधों से पानी छोड़ा गया, जिससे पूर्वी विदर्भ के कई गांवों में बाढ़ आ गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि मंगलवार दोपहर एक बजे तक, नागपुर खंड के 175 प्रभावित गांवों के 53,224 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

इनमें से 27,091 लोगों को नागपुर से, भंडारा से 18,192, चंद्रपुर से 5,667 और गढ़चिरौली जिले से 2,274 लोगों को निकाला गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भंडारा जिले में 76, नागपुर में 61, चंद्रपुर में 22 और गढ़चिरौली में 16 गांव प्रभावित हुए हैं।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी जितेश सरवाडे ने बताया कि राहत और बचाव कार्य के लिए चंद्रपुर की ब्रह्मपुरी तहसील के लडाज गांव और पोम्भुर्ना तहसील में सेना की दो टीमों को तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि गोसीखुर्द बांध का पानी भी कम हो गया है। उन्होंने कहा कि कुछ जगहों पर अभी भी जलजमाव है लेकिन धीरे-धीरे सेवाएं बहाल हो रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Maharashtra: More than 53000 people from flood affected areas evacuated to safer places