फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News महाराष्ट्रमहाराष्ट्र में सरकार बदलने में मुझे 4-6 महीने लगेंगे; बारामती में शरद पवार का बड़ा दावा

महाराष्ट्र में सरकार बदलने में मुझे 4-6 महीने लगेंगे; बारामती में शरद पवार का बड़ा दावा

उद्धव ठाकरे और शरद पवार ने अपनी पार्टी के नेताओं, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को विधानसभा चुनाव की तैयारी करने का आदेश दिया है। शरद पवार ने पहले ही अपने दौरे शुरू कर दिए हैं।

महाराष्ट्र में सरकार बदलने में मुझे 4-6 महीने लगेंगे; बारामती में शरद पवार का बड़ा दावा
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,मुंबई।Thu, 13 Jun 2024 06:18 AM
ऐप पर पढ़ें

देश में हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन ने बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए के लिए बड़ी चुनौती पेश की है। एनडीए ने बहुमत हासिल किया, लेकिन INDIA को भी 235 सीटों पर जीत मिली है। महाराष्ट्र में भी विपक्षी खेमे ने शानदार प्रदर्शन किया। इस बीच 48 में से 41 सीटों पर जीत हासिल की। लोकसभा चुनाव से पहले महाराष्ट्र की राजनीति के दो बड़े नेता उद्धव ठाकरे और शरद पवार को पार्टी में विभाजन का सामना करना पड़ा। हालांकि चुनाव नतीजे उनके पक्ष में आने से वह काफी गदगद हैं और अगला विधानसभा चुनाव में एनडीए को हराने का दंभ भर रहे हैं।

उद्धव ठाकरे और शरद पवार ने अपनी पार्टी के नेताओं, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को विधानसभा चुनाव की तैयारी करने का आदेश दिया है। शरद पवार ने पहले ही अपने दौरे शुरू कर दिए हैं। पवार ने अलग-अलग गांवों में किसानों और ग्रामीणों के साथ बैठकें शुरू कर दी हैं। इस बीच शरद पवार में किसानों और ग्रामीणों से बातचीत की और कहा, ''चार-छह महीने इंतजार करें, मैं राज्य में सरकार बदलना चाहता हूं। किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए सभी को सड़कों पर उतरना होगा।”

शरद पवार ने पुरंदर तालुका के कोलविहिरा में सूखा प्रभावित किसानों से बातचीत की। इस बार उन्होंने कहा, ''आप चार-छह महीने इंतजार कीजिए, मैं राज्य सरकार बदलना चाहता हूं। जब तक यह सरकार नहीं बदलेगी, हम किसानों के लिए जो नीतियां चाहते हैं उन्हें लागू नहीं कर सकते। जब सरकार बदलेगी तो हम किसानों के लिए काम करेंगे।''

पवार ने कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि वर्तमान शिवसेना-भाजपा-राकांपा सरकार इन समस्याओं को समझती भी है। विधानसभा चुनावों की ओर इशारा करते हुए पवार ने कहा, "अगर हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया तो आपको अगले चार से छह महीनों में नीति-निर्माण का अधिकार हमें सौंप देना चाहिए।"