फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ महाराष्ट्रएकनाथ शिंदे ने पहली ही चाल में पलट दिया उद्धव ठाकरे का बड़ा फैसला, भड़की कांग्रेस

एकनाथ शिंदे ने पहली ही चाल में पलट दिया उद्धव ठाकरे का बड़ा फैसला, भड़की कांग्रेस

गौरतलब है कि पेड़ों से घिरे आरे इलाके में कार शेड बनाने के प्रस्ताव को पर्यावरण समूहों के विरोध का सामना करना पड़ा था, क्योंकि इसके लिए सैकड़ों पेड़ों को काटना पड़ा।

एकनाथ शिंदे ने पहली ही चाल में पलट दिया उद्धव ठाकरे का बड़ा फैसला, भड़की कांग्रेस
Amit Kumarएजेंसियां,मुंबईFri, 01 Jul 2022 07:29 PM
ऐप पर पढ़ें

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभालने के कुछ घंटों बाद, एकनाथ शिंदे ने मुंबई में विवादास्पद मेट्रो कार शेड परियोजना पर उद्धव ठाकरे सरकार के रुख को उलटने के लिए कदम बढ़ाया है। शपथ ग्रहण समारोह के बाद बृहस्पतिवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में फडणवीस ने राज्य के महाधिवक्ता और प्रशासन को मेट्रो-3 लाइन के कार शेड को कांजुरमार्ग के बजाय आरे कॉलोनी में बनाने का प्रस्ताव जमा करने का निर्देश दिया।

यह संयोग है कि शिंदे के पूर्ववर्ती उद्धव ठाकरे ने नवंबर 2019 में मुख्यमंत्री बनते ही आरे कॉलोनी में मेट्रोलाइन-3 का कार शेड बनाने के प्रस्ताव पर रोक लगाने का ऐलान किया था। गौरतलब है कि पेड़ों से घिरे आरे इलाके में कार शेड बनाने के प्रस्ताव को पर्यावरण समूहों के विरोध का सामना करना पड़ा था, क्योंकि इसके लिए सैकड़ों पेड़ों को काटना पड़ा। उद्धव ठाकरे नीत सरकार ने बाद में कार शेड को कांजुरमार्ग स्थानांतरित कर दिया, लेकिन यह कानूनी दांव पेंच में फंस गया।

शिवसेना और एनसीपी से रहा गहरा नाता, जानिए कौन हैं शिंदे सरकार में होने वाले स्पीकर राहुल नार्वेकर

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार गिरने के 24 घंटे के भीतर बृहस्पतिवार को शिंदे ने महाराष्ट्र के 20वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली, जबकि देवेंद्र फडणवीस ने उप मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। फडणवीस ने महाधिवक्ता को आरे कॉलोनी में कार शेड (ट्रेनों को खड़ी करने और साफ-साफाई व मरम्मत स्थान) बनाने के मामले में सरकार का पक्ष रखने को कहा। शहरी विकास विभाग के अधिकारियों ने बताया कि यह मामला मौजूदा समय में अदालत के समक्ष विचाराधीन है और अगली सुनवाई 15 दिनों के बाद होगी।

एकनाथ शिंदे और बागी विधायकों ने दिया गुवाहाटी के होटल का बिल, कितना आया खर्च

मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान फडणवीस ने राज्य प्रशासन को जलयुक्त शिवर योजना को भी दोबारा शुरू करने का निर्देश दिया, जिसे एमवीए सरकार ने कथित भ्रष्टाचार की वजह से बंद कर दिया था। जल संचय की यह योजना फडणवीस नीत पूर्ववर्ती सरकार की महत्वाकांक्षी योजना थी।

भड़की कांग्रेस, शिंदे सरकार के कदम की आलोचना

महाराष्ट्र कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि मुंबई के आरे जंगल में मेट्रो कारशेड बनाने का एकनाथ शिंदे सरकार का फैसला शहर को पहला झटका है क्योंकि यह कदम यहां के लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ है। महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने यहां संवाददाताओं से कहा कि पर्यावरणीय क्षति (पेड़ों की कटाई) को ध्यान में रखते हुए, यह निर्णय लिया गया था कि मेट्रो लाइन 3 का कारशेड आरे के बजाय कांजुरमार्ग में बनाया जाएगा।

शिवसेना वहीं, जहां ठाकरे हैं', महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे सरकार पर बोले संजय राउत

उन्होंने कहा, "नवगठित सरकार आरे में कारशेड बनाने पर जोर देकर मुंबईवासियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। पर्यावरणविद और मुंबईवासी इसका कड़ा विरोध कर रहे हैं और हजारों लोगों ने तत्कालीन फडणवीस सरकार के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया था।"

उन्होंने कहा कि कारशेड को कांजुरमार्ग में बदलने के कदम को भाजपा के नेतृत्व वाले केंद्र द्वारा बाधित किया गया था, उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी विकास के विरोध में नहीं थी। उन्होंने कहा, "हम विकास के खिलाफ नहीं हैं, हम मुंबई मेट्रो परियोजना के खिलाफ नहीं हैं। मेट्रो परियोजना स्थापित करने का निर्णय सबसे पहले कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार ने मुंबईवासियों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए लिया था। कांग्रेस की भूमिका विकास और पर्यावरण के बीच संतुलन सुनिश्चित करना है।"

epaper