फोटो गैलरी

Hindi News महाराष्ट्रएकनाथ शिंदे ने बना दिया क्रिमिनल, 'बंदूकबाज' भाजपा विधायक ने बताई 'अंदर की बात'

एकनाथ शिंदे ने बना दिया क्रिमिनल, 'बंदूकबाज' भाजपा विधायक ने बताई 'अंदर की बात'

थाने में गोली चलाने वाले भाजपा विधायक गणपत गायकवाड़ ने कहा कि एकनाथ शिंदे ने एक भले आदमी को अपराधी बना दिया। उन्होंने शिंदे और उनके सांसद बेटे पर भी गंभीर आरोप लगाए।

एकनाथ शिंदे ने बना दिया क्रिमिनल, 'बंदूकबाज' भाजपा विधायक ने बताई 'अंदर की बात'
Ankit Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईSun, 04 Feb 2024 09:59 AM
ऐप पर पढ़ें

थाने में शिवसेना नेता पर फायरिंग के मामले में कल्याण से भाजपा विधायक गणपत गायकवाड़ को गिरफ्तार किया गया है। वहीं राज्य के गृह मंत्री देवेंद्र फडणवीस ने घटना की उच्चस्तरीय जांच करने का आदेश भी दे दिया है। गिरफ्तारी से पहले एक न्यूज चैनल से फोन पर बात करते हुए गणपत गायकवाड़ ने इस घटना के अंदर की कहानी बताई। वहीं उन्होंने कहा कि एकनाथ शिंदे ने ही एक भले आदमी को अपराधी बना दिया। बता दें कि महाराष्ट्र में भाजपा औऱ शिवसेना की गठबंधन की सरकार है। गायकवाड़ ने शिवसेना नेता महेश गायकवाड़ पर गोली चलाई थी जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है औऱ हालत नाजुक बताई जा रही है। 

बेटे की हो रही थी पिटाई
फोन पर बातचीत की ऑडियो क्लिप के मुताबिक गणपत गायकवाड़ ने बाताया, मामला जमीन विवाद का था। मेरी जमीन पर जबरन कब्जा किया जा रहा था औऱ मेरे सामने ही मेरे बेटे को पीटा जा रहा था। अगर एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहते हैं तो राज्य में अपराधी बढ़ेंगे। उन्होंने मुझ जैसे भले आदमी को भी अपराधी बना दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस स्टेशन में उनके बेटे की पिटाई हो रही थी जिसकी वजह से वह आगबबूला हो गए और पांच गोलियां चलाईं। उन्होंने कहा कि एकनाथ शिंदे राज्य में अपराधियों का साम्राज्य खड़ा करने की कोशिश कर रहे हैं। 

मुझे कोई पछतावा नहीं है
गायकवाड़ ने कहा कि बेटे की हालत देखकर मैं फ्रस्ट्रेट हो गया था। ऐसे में मैं क्या करता। मैंने मजबूरन गोली चला दी। मुझे इस बात का तनिक भी पछतावा नहीं है। मैं किसी को मारना नहीं चाहता था। बता दें कि रिपोर्ट के मुताबिक गायकवाड़ ने थाने के अंदर पांच राउंड फायर किए थे। इसमें महेश गणपत समेत शिवसेना के दो नेता घायल हो गए जिन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया। गंभीर हालत देखते हुए उन्हें जुपिटर अस्पताल भेजा गया। उनकी हालत अब भी नाजुक बनी हुई है।

गणपत गायकवाड़ ने बातया कि एक जमीन को लेकर कानूनी विवाद चल रहा था। कोर्ट में वह जीत गए थे। इसके बावजूद महेश गायकवाड़ ने जमीन पर कब्जा कर रखा था। इसके बाद उनका बेटा उल्हासनगर पुलिस स्टेश में शिकायत दर्ज करवाने के लिए गया था। वहीं ठाणे के एसीपी दत्ता शिंदे ने कहा कि गणपत गायकवाड़, उनका बेटा और महेश गायकवाड़ पुलिस स्टेशन आएथे। वहीं सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक आत्मरक्षा में गोली चलाने का कोई सवाल ही नहीं है। वहां इस तरह की कोई बहस या उकसावे की कार्यवाही नहीं हो रही थी। इसके बावजूद गणपत गायकवाड़ ने महेश गायकवाड़ पर गोली चला दी। 

जांच के बाद पता चला है कि महेश गायकवाड़ के शरीर से अस्पताल में 6 गोलियां निकाली गईं। वहीं गणपत गायकवाड़ ने कुल 10 राउंड फायरिंग की थी। पुलिस ने गणपत गायकवाड़ के साथ हर्षल केने और संदीप सरवनकर को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा अन्य लोगों की धर पकड़ के लिए भी टीम बनाईगई है। उनपर आईपीसी की धारा 307 और 120बी के तहत केस दर्ज किया गया है। 

गायकवाड़ ने एकनाथ शिंदे और उनके बेटे पर भी आरोप लगाया कि वे उनके द्वारा कराए गए कामों का श्रेय लेने के लिए बोर्ड बदल देते हैं। उन्होंने कहा, शिंदे को बताना चाहिए कि भ्रष्टाचार से वह कितनी कमाई कर रहे है्ं। शिंदे ने पहले उद्धव ठाकरे को धोखा दिया और अब भाजपा को धोखा देकर करोड़ों छाप रहे हैं। उन्हें मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। देवेंद्र फडणवीस जी और पीएम मोदी से मैं निवेदन करना चाहता हूं कि महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बदलना चाहिए। बता दें कि उल्हासनगर कल्याण लोकसभा सीट के अंतरगत आता है जहां से एकनाथ शिंदे के बेटे श्रीकांत शिंदे सांसद हैं। गठबंधन सरकार के बावजूद यहां शिवसेना और भाजपा के नेताओं में दुश्मनी की कहानी लंबीहै। गणपत गायकवाड़ ने पहले भी मांग की थी कि कल्याण लोकसभा सीट पर भाजपा अपना उम्मीदवार उतारे। 


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें