DA Image
6 मई, 2021|6:31|IST

अगली स्टोरी

23 साल के भतीजे के कोरोना वैक्सीन लेने पर बोले देवेंद्र फडणवीस- दूर का है रिश्ता

devendra fadnavis said 23-year-old tanmay who took corona vaccine is not close relative

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अपने 23 साल के भतीजे तन्मय फडणवीस की वैक्सीन लगवाती हुई तस्वीर वायरल होने पर विवादों में फंस गए हैं। यह सारा विवाद तब शुरू, जब तन्मय ने अपने इंस्टाग्रम अकाउंट पर एक तस्वीर पोस्ट करते हुए वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने की बात कही। आपकों बता दें कि अभी तक 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को ही वैक्सीन दी जा रही है। 

तस्वीर तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा। लोग महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को घेरने लगे। विवाद बढ़ता देख फडणवीस ने सफाई दी और तन्मय को "दूर के रिश्तेदार" बताया। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, एक करीबी पारिवारिक सूत्र ने कहा है कि तन्मय पूर्व विधायक शोभताई फडणवीस के पोते हैं, जो पूर्व मुख्यमंत्री की चाची हैं। आपको बता दें कि तन्मय को नागपुर में नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट (NCI) में कोरोना का टीका लगया गया। हालांकि बाद में उसने इंस्टाग्राम से पोस्ट डिलीट कर ली।

NCI के निदेशक शैलेश जोगलेकर ने तन्मय को वैक्सीन लगाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा, “तन्मय फडणवीस ने NCI में अपनी दूसरी खुराक ली। उन्होंने मुंबई के सेवन हिल्स अस्पताल में अपनी पहली खुराक ली थी। किस प्रावधान के तहत उन्हें पहली खुराक मिली यह हमें ज्ञात नहीं है। उन्होंने हमें पहली खुराक का प्रमाण पत्र दिखाया, इसलिए हमने उन्हें अपने केंद्र में दूसरी खुराक दी।''

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, सेवन हिल्स अस्पताल के डीन डॉ. बालकृष्ण एडसुल ने कहा कि अस्पताल ने अब तक 1.30 लाख लोगों को टीका लगाया है। ऐसे में प्रत्येक व्यक्ति की साख को सत्यापित करना असंभव था। उन्होंने कहा, “यह संभव है कि वह हेल्थकेयर या फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में CoWIN पोर्टल पर पंजीकृत हो। हम उन लोगों का टीकाकरण कर रहे हैं जो पहले से पंजीकृत हैं। प्रत्येक व्यक्ति को सत्यापित करना संभव नहीं है क्योंकि एक दिन में 3,500 टीकाकरण होते हैं।” उन्होंने कहा कि वह तन्मय को व्यक्तिगत रूप से नहीं जानते थे।

सोमवार को अपने बयान में देवेंद्र फडणवीस ने कहा, “तन्मय फडणवीस मेरे दूर के रिश्तेदार हैं। मुझे इस बात का कोई अंदाजा नहीं है कि उन्हें कोरोना की खुराक किस मापदंड के तहत मिली। यदि यह दिशानिर्देशों के अनुसार लिया गया है, तो इसमें कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए। लेकिन अगर यह दिशानिर्देशों का उल्लंघन है, तो यह पूरी तरह से अनुचित है। मेरी पत्नी और बेटी को भी टीकाकरण नहीं मिला है क्योंकि वे मौजूदा मानदंडों के तहत अभी तक इसके लिए योग्य नहीं हैं। मेरा दृढ़ मत है कि सभी को नियमों का पालन करना चाहिए।”

तन्मय के पिता अभिजीत फडणवीस और दादी शोभताई फडणवीस की तरफ से कॉल या मैसेज का जवाब नहीं मिला है। तन्मय ने टीका लेने की अपनी तस्वीर को इंस्टाग्राम से हटा दिया है। हालांकि उनके उनके इंस्टाग्राम अकाउंट पर पूर्व मुख्यमंत्री के साथ एक पारिवारिक समारोह की कई तस्वीरें दिख रही हैं।

आपको बता दें कि तन्मय की उम्र लगभग 22 साल है और उसने नागपुर से इंजीनियरिंग की डिग्री पूरी की है। उन्होंने अभिनय का एक कोर्स भी किया है। वर्तमान में कोरोना टीकाकरण केवल 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों के लिए खुला है। सोमवार को केंद्र सरकार ने घोषणा की है कि 18 वर्ष से अधिक आयु के लोग 1 मई से टीकाकरण के लिए पात्र होंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए महाराष्ट्र पीसीसी प्रमुख नाना पटोले ने सवाल किया कि युवाओं को वैक्सीन कैसे मिली? मंत्री नवाब मलिक ने कहा, “यह सत्ता और स्टेटस का घोर दुरुपयोग है। जब टीका विशिष्ट श्रेणियों के लिए है, तो वह इसे कैसे प्राप्त कर सकता है, खासकर जब यह कम आपूर्ति में है।” उन्होंने कहा कि सरकार को मामले की जांच करनी चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Devendra Fadnavis said 23-year-old tanmay who took corona vaccine is not close relative