फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ महाराष्ट्रदेवेंद्र फडणवीस आज शाम 7 बजे लेंगे शपथ, एकनाथ शिंदे को मिलेगी डिप्टी CM की कुर्सी; गवर्नर से की मुलाकात

देवेंद्र फडणवीस आज शाम 7 बजे लेंगे शपथ, एकनाथ शिंदे को मिलेगी डिप्टी CM की कुर्सी; गवर्नर से की मुलाकात

भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस आज शाम 7 बजे ही महाराष्ट्र के सीएम पद की शपथ लेंगे। उनके साथ ही एकनाथ शिंदे सूबे के डिप्टी सीएम के तौर पर शपथ ले सकते हैं। दोनों ने गवर्नर से मुलाकात की है।

देवेंद्र फडणवीस आज शाम 7 बजे लेंगे शपथ, एकनाथ शिंदे को मिलेगी डिप्टी CM की कुर्सी; गवर्नर से की मुलाकात
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईThu, 30 Jun 2022 04:18 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस आज शाम 7 बजे ही महाराष्ट्र के सीएम पद की शपथ लेंगे। उनके साथ ही एकनाथ शिंदे सूबे के डिप्टी सीएम के तौर पर शपथ ले सकते हैं। इससे पहले खबरें थीं कि फडणवीस कल सीएम पद संभाल सकते हैं। इस बीच देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की है। दोनों नेताओं ने इस मुलाकात में राज्य में सरकार गठन का दावा पेश किया। भाजपा के पास कुल 106 विधायक हैं, जबकि एकनाथ शिंदे ने भी शिवसेना के बागियों और निर्दलीय विधायकों समेत कुल 49 सदस्यों के समर्थन का दावा किया है। 

उद्धव पर अब कांग्रेस भी भड़की, कहा- लड़ना नहीं चाहते, लीडरशिप पर सवाल

आज ही एकनाथ शिंदे गोवा से मुंबई पहुंचे थे और फिर पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस के घर पर पहुंचे थे। फिर दोनों एक साथ ही राज्यपाल से मिलने के लिए निकले। एकनाथ शिंदे गोवा से अकेले ही आए हैं, जबकि अन्य बागी विधायक अब भी वहां के ताज होटल में ठहरे हुए हैं। भाजपा सूत्रों के मुताबिक भाजपा खेमे से कुल 28 मंत्री हो सकते हैं, जिनमें आशीष शेलार, सुधीर मुनगंटीवार और चंद्रकांत पाटिल समेत कई सीनियर नेता हो सकते हैं। इसके अलावा 13 मंत्री पद एकनाथ शिंदे कैंप को मिल सकते हैं। इनमें 8 कैबिनेट मंत्री बनाए जा सकते हैं। इसके अलावा 5 लोगों को राज्य मंत्री के पद दिए जा सकते हैं। दरअसल 2 जुलाई से हैदराबाद में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होने वाली है।

नवनीत के बाद राज का उद्धव पर तंज, सौभाग्य के भरोसे चलने से होता है पतन

बता देें कि राज्यपाल की ओर से फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया गया था, जिसे शिवसेना की ओर से सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल के आदेश पर रोक लगाने से ही इनकार कर दिया। यह उद्धव ठाकरे और शिवसेना के लिए करारा झटका था। शायद इसी के चलते सीएम उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव पर संबोधित करते हुए इस्तीफा दे दिया था। यही नहीं अपने भावुक भाषण में उन्होंने विधान परिषद की सदस्यता भी छोड़ने का ऐलान कर दिया था। 

epaper