DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   महाराष्ट्र  ›  महाराष्ट्र में लगातार घट रहे कोरोना केस, 48 हजार नए मामले, 5 अप्रैल के बाद सबसे कम

महाराष्ट्रमहाराष्ट्र में लगातार घट रहे कोरोना केस, 48 हजार नए मामले, 5 अप्रैल के बाद सबसे कम

लाइव हिन्दुस्तान,मुंबईPublished By: Madan Tiwari
Sun, 09 May 2021 10:11 PM
महाराष्ट्र में लगातार घट रहे कोरोना केस, 48 हजार नए मामले, 5 अप्रैल के बाद सबसे कम

महाराष्ट्र में रविवार को कोविड-19 के 48,401 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 51,01,737 हो गई। वहीं 572 और मरीजों की संक्रमण से मौत हो जाने से राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 75,849 हो गई। यह जानकारी राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने दी। महाराष्ट्र में रविवार को कोविड-19 के 48,401 नए मामले सामने आने के साथ ही राज्य में इस वर्ष 5 अप्रैल के बाद पहली बार ऐसा हुआ जब एक दिन में 50,000 से कम नये मामले सामने आये। पांच अप्रैल को राज्य में 47,288 नए मामले सामने आए थे।

विभाग ने एक बयान में कहा कि महाराष्ट्र में दिन में कुल 60,226 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई जिससे महाराष्ट्र में अभी तक ठीक हुए रोगियों की संख्या बढ़कर 44,07,818 हो गई। विभाग ने कहा कि 572 मौतों में से 310 मौतें पिछले 48 घंटे में हुई। विभाग के अनुसार महाराष्ट्र में ठीक होने की दर अब 86.4 प्रतिशत है, जबकि मृत्यु दर 1.49 प्रतिशत है। महाराष्ट्र में अब 6,15,783 उपचाराधीन मामले हैं। राज्य में 2,47,466 और नमूनों की जांच की गई जिससे महाराष्ट्र में अब तक की गई जांच की संख्या बढ़कर 2,94,38,797 हो गई है।

विभाग ने कहा कि मुंबई में दिन के दौरान 2,395 नये मामले सामने आये और 68 और मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही मुंबई में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 6,75,630 हो गई जबकि मृतक संख्या बढ़कर 13,781 हो गई। महाराष्ट्र में वर्तमान में 36,96,896 मरीज घर पर पृथकवास में हैं जबकि 26,939 मरीज संस्थागत पृथकवास में हैं।

7.2 लाख ऑटो रिक्शा चालकों को राहत 
वहीं, महाराष्ट्र में 7.20 लाख ऑटो रिक्शा चालकों को कोरोना वायरस के कारण लगाए गए लॉकडाउन के दौरान एक बार 1500 रुपये की सहायता देने के लिए 108 करोड़ रुपये की रकम आवंटित की गई है। एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि इस बाबत सरकार ने सात मई को अधिसूचना जारी कर दी थी। अधिकारी ने बताया कि चालकों को राहत पैकेज के लिए परमिट, बैज, गाड़ी और आधार कार्ड का वितरण अपलोड करना होगा जिसके बाद रकम सीधे उनके बैंक खाते में स्थानांतरित की जाएगी।

संबंधित खबरें