फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News महाराष्ट्रउद्धव ठाकरे ने मेहनत की, लेकिन... तारीफ करने लगे भाजपाई मंत्री; सलाह भी दे डाली

उद्धव ठाकरे ने मेहनत की, लेकिन... तारीफ करने लगे भाजपाई मंत्री; सलाह भी दे डाली

ठाकरे की शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) ने राज्य की 48 लोकसभा सीटों में से 21 पर चुनाव लड़ा और नौ सीटों पर उसे जीत हासिल हुई। दूसरी ओर कांग्रेस ने 17 सीटों पर चुनाव लड़ा और 13 पर उसे जीत मिली।

उद्धव ठाकरे ने मेहनत की, लेकिन... तारीफ करने लगे भाजपाई मंत्री; सलाह भी दे डाली
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईTue, 11 Jun 2024 04:15 PM
ऐप पर पढ़ें

महाराष्ट्र के मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने मंगलवार को शिवसेना (UBT) प्रमुख उद्धव ठाकरे पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्होंने मेहनत को बहुत की लेकिन इसका लाभ उनके सहयोगी ले गए। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि उद्धव ठाकरे ने लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान काफी मेहनत की लेकिन ऐसा लगता है कि सहयोगी दलों कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी-शरदचंद्र पवार (राकांपा-एसपी) को उनकी अपनी पार्टी से अधिक लाभ मिला।

पाटिल ने कहा कि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की तबीयत ठीक नहीं थी, लेकिन फिर भी उन्होंने प्रचार किया। उन्होंने कहा, "उद्धव ठाकरे की तबीयत ठीक नहीं थी, फिर भी उन्होंने काफी प्रयास किए। मैं उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंतित था। हालांकि, नतीजे बताते हैं कि एनसीपी (एसपी) और कांग्रेस को उनकी अपनी पार्टी की तुलना में उनके प्रयासों से अधिक लाभ हुआ।" 

पाटिल ने कहा, ‘‘जब ठाकरे भाजपा के साथ थे, तब उनकी पार्टी ने 18 लोकसभा सीटें जीती थीं। कांग्रेस और राकांपा-एसपी के साथ मिलकर उन्होंने नौ सीटें जीतीं। उन्हें आत्मचिंतन की जरूरत है।’’ ठाकरे की शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) ने राज्य की 48 लोकसभा सीटों में से 21 पर चुनाव लड़ा और नौ सीटों पर उसे जीत हासिल हुई। दूसरी ओर कांग्रेस ने 17 सीटों पर चुनाव लड़ा और 13 पर उसे जीत मिली। 

सांगली लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस नेता और बागी उम्मीदवार ने जीत दर्ज की और बाद में पार्टी को समर्थन दिया। राकांपा-एसपी ने 10 सीटों पर चुनाव लड़ा और आठ पर जीत हासिल की। पाटिल ने ठाकरे पर तंज कसा कि कहा जा रहा है कि ठाकरे ने अल्पसंख्यकों के वोटों के कारण जीत हासिल की। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के एक नेता ने भी कहा कि उद्धव की जीत का रंग भगवा नहीं बल्कि हरा है।