फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News महाराष्ट्रअधूरे पुल का आदित्य ठाकरे ने जबरदस्ती कर दिया उद्घाटन, BMC ने दर्ज कराया FIR

अधूरे पुल का आदित्य ठाकरे ने जबरदस्ती कर दिया उद्घाटन, BMC ने दर्ज कराया FIR

उन्होंने आरोप लगाया कि लेन मार्किंग, रंग और स्ट्रीट लैंप का काम किया गया था। डेलिसल रोड ब्रिज, दक्षिण की ओर जाने वाली लेन पर अभी भी काम पूरा होना बाकी है।

अधूरे पुल का आदित्य ठाकरे ने जबरदस्ती कर दिया उद्घाटन, BMC ने दर्ज कराया FIR
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,मुंबई।Sat, 18 Nov 2023 02:14 PM
ऐप पर पढ़ें

बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) की शिकायत पर शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) गुट के नेता और विधायक आदित्य ठाकरे, एमएलसी सुनील शिंदे, सचिन अहीर, पूर्व महापौर किशोरी पेडनेकर और स्नेहल अंबेकर सहित पार्टी के 20 अन्य नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है। यह मामला अधूरे डेलिसल रोड पुल को जनता के लिए खुला घोषित करने को लेकर किया गया है। 

गुरुवार रात को ठाकरे ने डेलिसल ब्रिज के दूसरे कैरिजवे पर हाथ में भगवा झंडा लिए चलते हुए अपनी एक तस्वीर पोस्ट की थी। इसमें उन्होंने लिखा था, "हम खोखे सरकार (एकनाथ शिंदे सरकार का अपमानजनक संदर्भ) के वीआईपी नहीं चाहते हैं। लोग परेशान हैं।”

एनएम जोशी मार्ग पुलिस ने कहा, "हमने बीएमसी, पुल विभाग के एक सहायक अभियंता, 43 वर्षीय पुरूषोत्तम इंगले की शिकायत पर मामला दर्ज किया है। ये सभी लोअर परेल में डेलिसले पुल के काम की देखरेख कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि लेन मार्किंग, रंग और स्ट्रीट लैंप का काम किया गया था। डेलिसल रोड ब्रिज, दक्षिण की ओर जाने वाली लेन पर अभी भी काम पूरा होना बाकी है। इसके बावजूद उन्होंने सोशल मीडिया पर देखा कि पुल का उद्घाटन आदित्य ठाकरे ने अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ कर दिया है। ऐसे करके उन्होंने लोगों के जीवन को खतरे में डाल दिया। उन्होंने एंट्री पॉइंट पर लगाए गए बैरिकेड् को भी हटा दिया।''

अगले दिन बीएमसी अधिकारियों ने घटनास्थल का दौरा किया और पाया कि नारियल टूटा हुआ है और बैरिकेड खुले हुए हैं। इसके बारे में बीएमसी के वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित किया गया। पुल को फिर से बंद कर दिया गया और बाद में मामला दर्ज करने का फैसला किया गया।

पुलिस अधिकारी ने कहा, "बीएमसी अधिकारी आवेदन के साथ हमारे पास आए। इसके बाद हमने शुक्रवार देर रात धारा 143 (गैरकानूनी सभा), 149 (गैरकानूनी सभा के प्रत्येक सदस्य को सामान्य उद्देश्य के अभियोजन में किए गए अपराध का दोषी), 336 (दूसरों के जीवन या व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालना) और भारतीय दंड संहिता की धारा 447 (आपराधिक अतिक्रमण) के तहत मामला दर्ज किया है।''

अधिकारी ने कहा कि वे वरिष्ठ अधिकारियों से परामर्श के बाद जांच की आगे की दिशा तय करेंगे।

आपको बता दें कि दक्षिण मुंबई और लोअर परेल के बीच एक महत्वपूर्ण लिंक पुल को 5 साल पहले बंद कर दिया गया था। इस जून में पहली बार आंशिक रूप से खोला गया था। स्ट्रीटलाइट्स, पेंटिंग, लेन मार्किंग, सिग्नल सिस्टम आदि जैसे फिनिशिंग टच अभी भी चल रहे हैं। उप नगर आयुक्त उल्हास महाले ने कहा कि पुल अगले 3 से 4 दिनों के भीतर यातायात के लिए खुला रहेगा।