फोटो गैलरी

Hindi News महाराष्ट्रजोरदार बारिश में भी भाषण देते रहे 83 साल के शरद पवार, याद आया 2019 का चुनाव

जोरदार बारिश में भी भाषण देते रहे 83 साल के शरद पवार, याद आया 2019 का चुनाव

नवी मुंबई में पार्टी के एक कार्यक्रम के दौरान जोरदार बारिश होने लगी लेकिन शरद पवार ने अपना भाषण बंद नहीं किया। उन्होंने कहा कि हमारा संघर्ष जारी रहेगा।

जोरदार बारिश में भी भाषण देते रहे 83 साल के शरद पवार, याद आया 2019 का चुनाव
Ankit Ojhaलाइव हिंदुस्तान,मुंबईMon, 27 Nov 2023 08:42 AM
ऐप पर पढ़ें

एनसीपी के संस्थापक शरद पवार कई बार अपने अंदाज की वजह से चर्चा में रहते हैं। रविवार को एक पार्टी के कार्यक्रम के दौरान बारिश होने लगी। उस समय शरद पवार कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। बारिश तेज हो गई लेकिन शरद पवार ने हटने का नाम नहीं लिया। तेज बारिश में भी उनका संबोधन जारी रहा। उनके इस अंदाज ने 2019 की याद दिला दी जब पवार ने बारिश में भाषण जारी रखा था  और इसके बाद विधानसभा के चुनाव में पार्टी को बड़ा फायदा मिला था। बता दें कि शरद पवार नवी मुंबई के एक पार्टी कार्यक्रम में पहुंचे थे। बता दें कि अगले महीने शरद पवार 83 साल के होने वाले हैं। हाल ही में उनकी तबीयत भी खराब हो गई थी और अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। 

बारिश में भाषण देते हुए शरद पवार ने भतीजे अजित पवार की ओर संकेत करते हुए कहा, बारिश ने आज हमारी योजना में बाधा डाल दी है। लेकिन हम आसानी से सरेंडर नहीं करने वाले हैं। हमें अपना संघर्ष भविष्य में भी जारी रखना है। इस कार्यक्रम के बाद ही बारिश में भीगे हुए शरद पवार की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगीं। उनके समर्थकों ने उनके 2019 के भाषण को याद किया। 

बता दें कि 2019 में विधानसभा चुनाव के दौरान मतदान के तीन दिन पहले ही शरद पवार सतारा में एनसीपी उम्मीदवार के समर्थन में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे। भाषण शुरू ही होने वाला था कि जोरदार बारिश होने लगी। उन्हें छाता दिया गया लेकिन शरद पवार ने इसे लेने से इनकार कर दिया और कहा कि यह बारिश भगवान की तरफ से एनसीपी को आशीर्वाद है। सतारा में लोकसभा सीट का उपचुनाव भी विधानसभा चुनाव के साथ ही कराया गया था। इस भाषण के बाद शरद पवार का वीडियो वायरल होनेलगा था। 

माना जाता है कि इस भाषण के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा बदलाव आया और एनसीपी को ज्चादा सीटें हासिल हुईं। 2019 में एनसीपी ने महाराष्ट्र में 54 सीटें हासिल कीं जो कि उसके पहले के चुनाव से 13 ज्यादा थीं। इसी वजह से कांग्रेस को महाराष्ट्र में चौथे स्थान पर खिसकना पड़ा। बता दें कि अब शरद पवार अपनी ही पार्टी में लड़ाई लड़ रहे हैं। भतीजे अजित पवार ने उनकी पार्टी पर दावा ठोक दिया है। अजित पवार ने पार्टी के नाम और प्रतीक के लिए चुनाव आयोग का भीरुख किया है। उनका दावा है कि उनके पास 40 विधायकों का समर्थन है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें