DA Image
30 मार्च, 2021|11:44|IST

अगली स्टोरी

महाराष्ट्र में मंत्री बनते ही असलम शेख का पुराना पत्र वायरल, याकूब मेमन के लिए की थी दया की अपील 

कांग्रेस विधायक असलम शेख को महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने के एक दिन बाद उनका एक पुराना पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसमें उन्होंने 1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट के दोषी याकूब मेमन के लिए दया की अपील की थी। असलम शेख ने पत्र वायरल होने के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है।

असलम शेख महाराष्ट्र के उन नेताओं में शामिल थे, जिन्होंने मेमन के लिए वर्ष 2015 में दया का अनुरोध किया था। उस वक्त राज्य में भाजपा-शिवसेना की सरकार थी और इन दोनों दलों ने मेमन की मौत की सजा का स्वागत किया था।

शिवसेना ने अक्टूबर में हुए विधानसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री पद पर अपना दावा ठोकते हुए भाजपा से अपना गठबंधन खत्म कर दिया और अपनी पारंपरिक प्रतिद्वंद्वी पार्टियों राकांपा और कांग्रेस से गठबंधन करके राज्य में सरकार बनाई है। 
     
पुराना पत्र वायरल होने के बाद शेख ने मंगलवार को पत्रकारों से कहा, 'जिस दिन से भाजपा सत्ता से बाहर हुई है, तब से वह विभिन्न मुद्दों पर लोगों को गुमराह कर रही है।' उन्होंने कहा, 'जिन्होंने नाथूराम गोडसे का मंदिर बनाया, वे मेरे खिलाफ आतंकवाद पर नरम रुख रखने का आरोप लगा रहे हैं। ये वही लोग हैं, जिन्होंने महात्मा गांधी की हत्या की। वे जो करने की कोशिश कर रहे हैं, वो ब्रिटिश तक नहीं कर सके।' 

शेख मुंबई की मलाड सीट से विधायक हैं। जुलाई 2015 में शेख ने तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पत्र लिखकर मेमन के लिए दया का अनुरोध किया था। हालांकि, मेमन की दया याचिका को खारिज कर दिया गया था और उसे 30 जुलाई 2015 को नागपुर की एक जेल में फांसी दे दी गई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Maharashtra minister Aslam Shaikh old letter seeking clemency for Yakub Memon goes viral