ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ महाराष्ट्र मुंबईमुंबई में 10,000 से कम मामले सामने आए, 24 घंटे में 11 की मौत; UAE से आने वाले यात्रियों को दी गई ढील

मुंबई में 10,000 से कम मामले सामने आए, 24 घंटे में 11 की मौत; UAE से आने वाले यात्रियों को दी गई ढील

मुंबई में कई दिनों बाद 10,000 से कम मामले सामने आए हैं। देश की आर्थिक राजधानी में पिछले 24 घंटे में 7895 नए मामले सामने आए और इस दौरान 11 लोगों की मौत हुई। पिछले एक सप्ताह से भी ज्यादा समय से शहर में...

मुंबई में 10,000 से कम मामले सामने आए, 24 घंटे में 11 की मौत; UAE से आने वाले यात्रियों को दी गई ढील
Amit Kumarलाइव हिन्‍दुस्‍तान,मुंबईSun, 16 Jan 2022 09:03 PM

इस खबर को सुनें

मुंबई में कई दिनों बाद 10,000 से कम मामले सामने आए हैं। देश की आर्थिक राजधानी में पिछले 24 घंटे में 7895 नए मामले सामने आए और इस दौरान 11 लोगों की मौत हुई। पिछले एक सप्ताह से भी ज्यादा समय से शहर में मामलों में गिरावट देखी जा रही है। मुंबई में 84% नए मामले बिना लक्षण वाले हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 57,534 परीक्षण किए गए। ठीक होने की दर 92% है और मुंबई में संक्रमण के दोगुने होने की दर 48 दिन है।

Image

UAE से मुंबई आने वाले यात्रियों को प्रतिबंधों में ढील

जैसे-जैसे मामले गिर रहे हैं, बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने दुबई सहित संयुक्त अरब अमीरात से मुंबई के लिए उड़ान भरने वाले यात्रियों के लिए अनिवार्य अतिरिक्त प्रतिबंध वापस ले लिए हैं। रविवार को जारी नोटिस में कहा गया, "दुबई सहित यूएई से आने वाले यात्रियों के लिए अब से कोई विशेष एसओपी लागू नहीं होगी। जोखिम वाले देशों के अलावा अन्य देशों से आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों पर लागू दिशानिर्देश यूएई से आने वाले यात्रियों पर लागू होंगे।" 

मुंबई में दुबई सहित संयुक्त अरब अमीरात से आने वाले अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों को अब अनिवार्य रूप से सात-दिवसीय होम क्वारंटाइन और आरटी-पीसीआर से छूट दी गई है। ग्रेटर मुंबई नगर निगम ने रविवार को एक अधिसूचना में कहा। ये निर्देश 17 जनवरी, 2022 की मध्यरात्रि से लागू होंगे।

Image

इससे पहले महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने रविवार को कहा कि अगर गिरावट का सिलसिला जारी रहा तो राज्य सरकार अगले 10-15 दिनों के बाद स्कूलों को फिर से खोलने पर विचार करेगी। उन्होंने कहा, "स्कूलों को फिर से खोलने के लिए कुछ क्षेत्रों से मांग बढ़ रही है क्योंकि बच्चों को शिक्षा का नुकसान हो रहा है। हम 10-15 दिनों के बाद इस पर विचार करेंगे क्योंकि बच्चों में संक्रमण दर कम है। इस संबंध में मुख्यमंत्री अंतिम फैसला करेंगे।"

epaper