फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशसिर्फ 28 वोट से हुई जीत तो कांग्रेस-बीजेपी कार्यकर्ता भिड़े, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले; मचा बवाल

सिर्फ 28 वोट से हुई जीत तो कांग्रेस-बीजेपी कार्यकर्ता भिड़े, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले; मचा बवाल

शाजापुर जिले में शाजापुर विधानसभा सीट से भाजपा कैंडिडेट ने कांग्रेस कैंडिडेट को काफी कम अंतर से हराया है। कांग्रेस-भाजपा प्रत्याशियों के बीच हुई इस मारपीट को शांत करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया।

सिर्फ 28 वोट से हुई जीत तो कांग्रेस-बीजेपी कार्यकर्ता भिड़े, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले; मचा बवाल
Nishant Nandanएएनआई,शाजापुरSun, 03 Dec 2023 07:43 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश में भाजपा प्रत्याशी के बेहद कम अंतर से जीतने के बाद बवाल मच गया। भाजपा प्रत्याशी की जीत के ऐलान के बाद बीजेपी और कांग्रेस के कार्यकर्ता मतगणना केंद्र के बाहर ही भिड़ गए। शाजापुर जिले में शाजापुर विधानसभा सीट से भाजपा कैंडिडेट ने कांग्रेस कैंडिडेट को काफी कम अंतर से हराया है। इसके बाद कांग्रेस और भाजपा प्रत्याशियों के बीच हुई इस मारपीट को शांत करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। हंगामा कर रहे राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े।

यहां भाजपा प्रत्याशी अरुण भीमावद ने कांग्रेस प्रत्याशी हुकूम सिंह कराडा को महज 28 वोटों से हराया। इसके बाद दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ता नारे लगाने लगे और एक-दूसरे से भिड़ गए। ASP टीएस बघेल ने कहा, 'शाजापुर जिले में तीन विधानसभा सीटे हैं और तीनों ही विधानसभाओं में मतगणना का काम शांतिपूर्ण हुआ। कुछ भाजपा औऱ कांग्रेस समर्थक नारे लगा रहे थे। जिसके बाद पुलिस वहां तुरंत पहुंची और उन्हें सलाह दिया गया। अब हालात शांतिपूर्ण हैं।'

बता दें कि मध्य प्रदेश में बीजेपी की जीत के साथ ही पार्टी कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह है। इस चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव प्रचार के दौरान मध्यप्रदेश में 14 रैलियों को संबोधित किया और युवा मतदाताओं तक पहुंच बनाकर उन्हें विभिन्न मोर्चों पर पिछली कांग्रेस सरकारों की विफलताओं की याद दिलाई और सभी वर्गों के विकास पर जोर दिया। मोदी की अपील का मध्यप्रदेश में महिलाओं समेत मतदाताओं पर असर हुआ, जहां सत्तारूढ़ भाजपा ने 43 सीटें जीती हैं और 230 निर्वाचन क्षेत्रों में से 122 पर आगे चल रही है। 

पिछले महीने मप्र में चुनाव की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री ने एक रोड शो का भी नेतृत्व किया था। मोदी भगवा पार्टी के पारंपरिक समर्थकों के अलावा महिलाओं, युवाओं, आदिवासियों समेत मतदाताओं के विभिन्न वर्गों तक पहुंचे। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को मध्य प्रदेश चुनाव के लिए भाजपा की चुनाव प्रबंधन समिति का संयोजक नियुक्त किया गया, जबकि कांग्रेस ने सत्ता में आने पर नारी सम्मान निधि के तहत महिलाओं को 1,500 रुपये की वित्तीय सहायता देने का वादा किया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें