फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशचलती ट्रेन में शुरू हुई प्रसव पीड़ा, देवदूत बनकर आई महिला पुलिसकर्मी ने किया कमाल

चलती ट्रेन में शुरू हुई प्रसव पीड़ा, देवदूत बनकर आई महिला पुलिसकर्मी ने किया कमाल

महाकौशल एक्सप्रेस में सफर कर रही एक गर्भवती महिला को ट्रेन में ही प्रसव पीड़ा हो गई। वह दर्द से कराह रही थी। स्टेशन पर ट्रेन रुकने के बाद पति ने उसे उतार लिया। फिर एक महिला कांस्टेबल ने उसे संभाला।

चलती ट्रेन में शुरू हुई प्रसव पीड़ा, देवदूत बनकर आई महिला पुलिसकर्मी ने किया कमाल
women
Subodh Mishraलाइव हिन्दुस्तान,मुरैनाSun, 02 Jun 2024 03:27 PM
ऐप पर पढ़ें

महाकौशल एक्सप्रेस में एक डिब्बे में उस समय अफरा तफरी मच गई जब एक गर्भवती को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। जैसे ही ट्रेन मध्य प्रदेश के मुरैना रेलवे स्टेशन पहुंची पति ने उसे ट्रेन से उतार लिया। महिला अपने पति के साथ आगरा से महाकौशल एक्सप्रेस से अपनी बहन के घर ग्वालियर जा रही थी। वह 7 महीने की गर्भवती थी। मुरैना रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद भी वह प्रसव पीड़ा से कराह रही थी। तब रेलवे सुरक्षा बल की महिला कांस्टेबल वहां पहुंची और गर्भवती महिला को संभाला। उसके बाद एंबुलेंस मंगवाकर महिला को अस्पताल ले जाया गया। हालांकि प्रसव पीड़ा अधिक होने कारण एंबुलेंस में ही उसका प्रसव कराना पड़ा। उसके बाद महिला और नवजात को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के सिकंदरा क्षेत्र में रहने वाले बॉबी शर्मा अपनी 7 माह की गर्भवती पत्नी साधना को प्रसव पूर्व चेकअप के लिए आगरा से महाकौशल एक्सप्रेस से ग्वालियर ले जा रहे थे। इसी बीच मुरैना स्टेशन से पहले धौलपुर स्टेशन पर साधना को प्रसव पीड़ा होने लगा। उसके पति ने ट्रेन के मुरैना स्टेशन पर पहुंचने के बाद उसे उतार लिया और प्लेटफॉर्म पर लगे बेंच पर लिटा दिया।

साधना प्रसव पीड़ा से कराह रही थी, लेकिन मदद के लिए कोई आगे नहीं आ रहा था। तभी सूचना पाकर रेलवे सुरक्षा बल के एएसआई शिवदान और हवलदार अर्चना सिंह वहां पहुंचे। प्रसव पीड़ा से कराह रही साधना को महिला आरक्षक ने संभाला। उन्होंने तत्काल एंबुलेंस को कॉल किया। एंबुलेंस से महिला आरक्षक साधना को जिला अस्पताल लेकर पहुंच गई।

महिला को प्रसव पीड़ा अधिक हो रही थी, इसलिए अस्पताल के स्टॉफ की मदद से उसकी डिलीवरी एंबुलेंस में ही करवानी पड़ी। उसने बेटे को जन्म दिया। उसके बाद मां और नवजात को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस मामले में CMHO डॉ. राकेश शर्मा का कहना है कि मां और बेटे दोनों स्वस्थ हैं। दोनों की देखरेख की जा रही है।