फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशपत्नी ने साजिश रचकर करवाया पति का मर्डर, बीमा पॉलिसी की रकम बनी वजह

पत्नी ने साजिश रचकर करवाया पति का मर्डर, बीमा पॉलिसी की रकम बनी वजह

ग्वालियर में 4 अप्रैल को सड़क किनारे मिली एक शख्स की डेड बॉडी के मामले में पुलिस ने खुलासा कर दिया है। मृतक की हत्या की साजिश उसकी पत्नी ने ही रची थी। वारदात के लिए रिश्तेदारों की मदद ली।

पत्नी ने साजिश रचकर करवाया पति का मर्डर, बीमा पॉलिसी की रकम बनी वजह
Sourabh Jainलाइव हिन्दुस्तान,ग्वालियरSat, 13 Apr 2024 10:05 PM
ऐप पर पढ़ें

ग्वालियर में महिला पर रुपयों का ऐसा लालच सवार हुआ कि उसने अपने पति की ही हत्या करवा दी। इस साजिश के लिए उसने अपने रिश्तेदारों की मदद ली। पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपी महिला ने बीमा पॉलिसी के 20 लाख रुपए हासिल करने के लिए अपने साथियों के साथ मिलकर षड़यंत्रपूर्वक अपने पति की हत्या करा दी।

सड़क किनारे मिली थी लाश

मामला 4 अप्रैल का है जब पुलिस को  चीनोर क्षेत्र में भौरी की पुलिया से पास सड़क किनारे एक अज्ञात शख्स का शव मिला था, जिसकी पहचान  रामधार के रूप में हुई। शुरू में ऐसा लग रहा था कि किसी वाहन के कुचलने की वजह से उसकी मौत हुई है। हालांकि जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई तो गला दबाने से मौत होने का पता चला। जिसके बाद पुलिस ने हत्या के एंगल से मामले की जांच शुरू की।

पति-पत्नी में होता था विवाद

तफ्तीश के दौरान पता चला कि मृतक को शराब पीने की लत थी और इसी बात को लेकर उसका अपनी पत्नी सीमा से विवाद होता रहता था। पुलिस को ये भी पता चला कि कुछ ही महीने पहले मृतक ने अपना पैतृक मकान बेचा था। जिससे मिले रुपयों से मृतक ने अपने नाम से 20 लाख रुपए का बीमा भी कराया था, जिसमें नॉमिनी उसकी पत्नी थी।

बीमा पॉलिसी के रुपयों के लिए किया मर्डर

बीमा पॉलिसी के बारे में पता चलने के बाद पुलिस ने मृतक की पत्नी सीमा से गहन पूछताछ की, जिसमें वो टूट गई और उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया। महिला ने बताया कि वो अपने पति के अधिक शराब पीने एवं अन्य लोगों के घर में आने से काफी तंग आ चुकी थी। इसलिए उसने अपने डबरा निवासी जीजा के चचेरे भाई सुरेन्द्र उर्फ छोटू जाटव और उसके तीन साथियों के साथ मिलकर अपने पति रामधार को रास्ते से हटाने की योजना बनाई। 

वारदात वाले दिन महिला रिश्तेदार के घर गई

योजना के अनुसार मृतक की पत्नी ने रामधार का बीमा करवाया। फिर जब रामधार को हटाने का समय आया तो वारदात से 4 दिन पहले महिला अपनी ननद के घर बागचीनी जिला मुरैना चली गई, ताकि पुलिस को उस पर शक ना हो। वहीं जब रामधार ग्वालियर लौट आया तो आरोपी उससे मिले और उसे जमकर शराब पिलाई। जब वो नशे में धुत्त हो गया तो आरोपी उसे एक स्विफ्ट कार से घुमाते रहे और शाम को नरवर वाले रास्ते के जंगल में ले जाकर कार में ही उसका गला घोंटकर उसकी जान ले ली। 

गला घोंटने के बाद आरोपियों ने उसके शव को सड़क पर पटकर उसे कार से कुचल दिया ताकि यह एक रोड एक्सीडेंट जैसा लगे। क्योंकि बीमा पॉलिसी के अनुसार एक्सीडेंट में मौत होने पर रामधार की पत्नी को बीमा पॉलिसी के 20 लाख रुपए मिल जाते। पुलिस ने इस अंधे हत्याकांड का खुलासा करते हुए वारदात में शामिल मृतक की पत्नी व उसके तीनों साथियों को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं एक आरोपी फरार है।