फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशएमपी में क्यों कम की गई लाडली बहनों की संख्या, सरकार ने बताई वजह, कांग्रेस पर खूब बरसे सीएम

एमपी में क्यों कम की गई लाडली बहनों की संख्या, सरकार ने बताई वजह, कांग्रेस पर खूब बरसे सीएम

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने बुधवार को लाडली बहना योजना के 1.29 करोड़ लाभार्थियों की नई किस्त जारी की। हालांकि लाभार्थियों की संख्या 1.75 लाख कम हो गई है। क्या है इसकी वजह?

एमपी में क्यों कम की गई लाडली बहनों की संख्या, सरकार ने बताई वजह, कांग्रेस पर खूब बरसे सीएम
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,भोपालWed, 10 Jan 2024 10:58 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने बुधवार को लाडली बहना योजना के 1.29 करोड़ लाभार्थियों के बैंक खातों में 1576.61 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए। राजधानी भोपाल के कुशाभाऊ ठाकरे कन्वेंशन सेंटर में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में सीएम ने सिंगल क्लिक से राशि ट्रांसफर की। इस अवसर पर उन्होंने लाभार्थियों से अपने-अपने परिवार की भलाई के लिए इस रकम का इस्तेमाल करने का भी आग्रह किया। हालांकि लाभार्थियों की संख्या 1.75 लाख कम हो गई। विपक्षी कांग्रेस ने इसको लेकर भाजपा सरकार पर जोरदार हमला बोला। विधानसभा में विपक्ष के नेता उमंग सिंघार ने कहा कि नई सरकार ने लाभार्थियों की संख्या दो लाख कम कर दी है।

वहीं राज्य सरकार ने लाभार्थियों की संख्या कम किए जाने पर सफाई दी है। सूबे महिला एवं बाल विकास विभाग ने एक पत्र जारी कर स्पष्टीकरण में कहा कि लाभार्थियों की संख्या कम किए जाने के पीछे कई वजहें रही हैं। कुछ लाभार्थियों के नाम उनकी मृत्यु हो जाने की वजह से काटे गए हैं जबकि कुछ के नाम इसलिए हटाए गए हैं क्योंकि उनकी उम्र 60 साल से अधिक हो चुकी थी। इन्हीं वजहों के कारण 1.75 लाख से अधिक लाभार्थियों के नाम हटाए गए हैं। जिन महिलाओं की उम्र 61 साल हो गई है, वे अब वृद्धावस्था पेंशन योजना के लिए पात्र हो गई हैं।

लाडली बहना योजना के 1.29 करोड़ लाभार्थियों के बैंक खातों में रकम ट्रांसफर किए जाने के मौके पर मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा कि सरकार ने आज 1.29 करोड़ लाड़ली बहनों को कुल 1576 करोड़ रुपये की धनराशि सिंगल क्लिक के जरिए उनके बैंक खातों में ट्रांसफर की है। मकर संक्रांति से पहले इस आर्थिक मदद से यह त्योहार बहनों के लिए सुखद और आनंददायी हो जायेगा।

इसके साथ ही सीएम ने कांग्रेस पर भी जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि पता नहीं कांग्रेस वालों के पेट में दर्द क्यों होता है। कांग्रेस नेताओं ने पहले कहा कि भाजपा सरकार इतनी बड़ी रकम नहीं दे सकती है। अब जब वे पैसा जारी करते हुए देखते हैं तो कहते हैं कि अभी दे दिया तो अगली बार जरूर नहीं देंगे। आप (कांग्रेस) उम्मीद में बैठे रहिए, हम हर बार यह रकम बहनों के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करते रहेंगे। सीएम ने यह भी दावा किया कि कांग्रेस ने कभी बहनों को आर्थिक मदद नहीं दी लेकिन जब हम लाडली बहनों को आर्थिक मदद दे रहे हैं तो उस पर सवाल उठा रही है। 

इस बीच, नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने कहा कि मोहन यादव सरकार ने लाडली बहना लाभार्थियों की संख्या दो लाख कम कर दी है। लोकसभा चुनाव बाद यह संख्या कितनी बचेगी यह तो सीएम ही जानें। वहीं कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने दावा किया कि शिवराज सरकार के दौरान लाभार्थियों की संख्या 1.31 करोड़ थी जो घटकर 1.29 करोड़ हो गई है। इस पर राज्य भाजपा मीडिया प्रभारी आशीष अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस 'झूठ की फैक्टरी' है। लाडली बहना लाभार्थियों की संख्या में 1.75 लाख की गिरावट विभिन्न कारणों से आई है। लगभग 1.56 लाख महिलाएं 60 साल की उम्र पार कर चुकी हैं। वहीं 18 हजार से अधिक महिलाओं ने लाभ छोड़ दिया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें