DA Image
27 जनवरी, 2021|4:56|IST

अगली स्टोरी

हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं का सत्य प्रकाशन केंद्र में हंगामा और तोड़फोड़, लगाया धर्म परिवर्तन का आरोप

मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के भंवरकुआं थाना क्षेत्र में मंगलवार को उस समय हड़कंप कट गया, जब कुछ हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता सत्य प्रकाशन केंद्र में पहुंचे और केंद्र का घेराव कर हंगामा करने लगे। कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि, इस केंद्र में धर्म परिवर्तन कराने के नाम पर करीब 150 लोगों को यहां पर लाया गया था। सूचना के बाद मौके पर पहुँची पुलिस मामले में जांच कर रही है। साथ हे सत्य प्रकाशन केन्द्र में तोड़फोड़ की भी बात सामने आई है।

घटना के जानकारी देते हुए सीएसपी दिशेष अग्रवाल ने बताया कि, भंवरकुआं थाना क्षेत्र की घटना है। सत्य प्रकाशन नामक एक संस्था है। यहां पर धर्म परिवर्तन करवाए जाने जैसी सूचना मिली थी। मौके पर पहुंचकर जांच कर मामले की जांच की जा रही है। पड़ताल में 80 से 100 लोग एक साथ मिले हैं।

कार्यक्रम को लेकर इन्होंने कोई सूचना नहीं दी थी। वहीं, संस्था के फादर का कहना है कि यह कम्यूनिकेशन सेंटर है। यहां पर दो हॉल हैं, जहां पर प्रार्थना की जाती है। हम इसे सार्वजनिक कार्य के लिए उपलब्ध भी करवाते हैं। हमें जब पता चला कि कुछ दिक्कत हो रही है, हम देखने आए थे। मुझे ज्यादा जानकारी नहीं है। धर्मांतरण से हमारी संस्थान का कोई देना-देना नहीं है। हम तो हॉल सार्वजनिक काम के लिए देते हैं।

वहीं, हिंदू संगठन बजरंग दल के एक सदस्य का कहना है कि यहां पर प्रदेश के अन्य जगहों जैसे झाबुआ, नागदा, देवास सहित इंदौर के भी चंदन नगर क्षेत्र से गरीब परिवारों को यहां लाकर धर्म परिवर्तन करवाया जा रहा था। सूचना मिलने पर बजरंग दल और संघ के कार्यकर्ता यहां पहुंचे। हमने हंगामा किया तो वे बोले-हम धर्म परिवर्तन नहीं कर रहे हैं, मन को कन्वर्ट कर रहे हैं। ऐसी गतिविधियां कहीं पर भी चलेगी तो हम अपनी शैली में जवाब देंगे। यहां करीब 150 लोगों को बुलाया गया था। 

जब यहां आए लोगों ने पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, हम यहां प्रार्थना करने आए थे। किसी को भी जबरन यहां नहीं लाया गया था। हमारे घर में बहुत सी समस्याएं थीं, जिसे परमात्मा ने दूर कर दिया है। साथ ही कहा कि, यहाँ किसी का धर्म परिवर्तन नहीं किया जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Uproar and sabotage at Sathya Prakashan Center by Hindu organization activists accused of conversion