फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशकैलाश विजयवर्गीय के करीबी मोनू कल्याणे हत्याकांड के 2 आरोपी शिकंजे में, पुलिस ने बताई- मर्डर की वजह

कैलाश विजयवर्गीय के करीबी मोनू कल्याणे हत्याकांड के 2 आरोपी शिकंजे में, पुलिस ने बताई- मर्डर की वजह

DCP ने बताया कि आरोपियों के कब्जे से हत्याकांड में इस्तेमाल देशी पिस्तौल और मोटरसाइकिल बरामद की गई है। डीसीपी ने बताया, 'हमारी जांच में पता चला है कि कल्याणे पर अर्जुन ने गोली चलाई थी।'

कैलाश विजयवर्गीय के करीबी मोनू कल्याणे हत्याकांड के 2 आरोपी शिकंजे में, पुलिस ने बताई- मर्डर की वजह
monu kalyane
Nishant Nandanभाषा,इंदौरMon, 24 Jun 2024 05:06 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्यप्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की युवा शाखा भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) की इंदौर इकाई के 35 वर्षीय पदाधिकारी की गोली मारकर हत्या के बाद फरार हुए दो नामजद आरोपियों को पुलिस ने सोमवार को राजधानी भोपाल से गिरफ्तार किया। पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि भाजयुमो की शहर इकाई के उपाध्यक्ष मोनू कल्याणे (35) की एमजी रोड थाना क्षेत्र में शनिवार और रविवार की दरमियानी रात गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

उन्होंने बताया कि वारदात के वक्त वह रविवार को शहर में आयोजित होने वाली 'भगवा यात्रा' के झंडे-बैनर लगवा रहे थे। भाजपा के सूत्रों के मुताबिक, कल्याणे की गिनती राज्य के काबीना मंत्री कैलाश विजयवर्गीय के करीबी समर्थकों में होती थी। कल्याणे अलग-अलग आयोजनों के जरिये स्थानीय राजनीति में अपना कद बढ़ाने की कोशिश कर रहे थे।

पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) पंकज कुमार पांडे ने संवाददाताओं को बताया कि गोली मारकर कल्याणे की हत्या के आरोप में अर्जुन पथरोड़ और पीयूष पथरोड़ को भोपाल के अंतरप्रांतीय बस टर्मिनल (आईएसबीटी) के बाहर से गिरफ्तार किया गया। पांडे ने बताया कि आरोपियों की उम्र 30 साल के आस-पास है।

उन्होंने बताया कि आरोपियों के कब्जे से हत्याकांड में इस्तेमाल देशी पिस्तौल और मोटरसाइकिल बरामद की गई है।डीसीपी ने बताया, 'हमारी जांच में पता चला है कि कल्याणे पर अर्जुन ने गोली चलाई थी। उसका कहना है कि उसने खरगोन से अवैध तौर पर देशी पिस्तौल खरीदी थी। हम इस बात की तसदीक कर रहे हैं।'

पांडे ने बताया कि दोनों गिरफ्तार आरोपी कल्याणे के पड़ोस में रहते हैं और शुरुआती जांच में ऐसा प्रतीत होता है कि भाजयुमो पदाधिकारी के हत्याकांड को पुरानी रंजिश में अंजाम दिया गया। उन्होंने बताया कि हत्याकांड की साजिश और इसमें अन्य लोगों के शामिल होने के संदेह को लेकर दोनों आरोपियों से पुलिस की विस्तृत पूछताछ जारी है।