फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशदबदबा कायम करने के लिए स्कूली बच्चों को बेवजह पीटा, MP के इंदौर में पकड़े गए 8 नाबालिग लड़के

दबदबा कायम करने के लिए स्कूली बच्चों को बेवजह पीटा, MP के इंदौर में पकड़े गए 8 नाबालिग लड़के

करीब 300 सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगालने से मिले सुरागों के आधार पर 10 आरोपियों को हिरासत में लिया गया जिनमें से आठ नाबालिग हैं। आरोपियों में शामिल लड़के 10वीं और 12वीं के विद्यार्थी हैं।

दबदबा कायम करने के लिए स्कूली बच्चों को बेवजह पीटा, MP के इंदौर में पकड़े गए 8 नाबालिग लड़के
Devesh Mishraभाषा,इंदौरThu, 29 Feb 2024 11:08 PM
ऐप पर पढ़ें

इंदौर में महज दबदबा कायम करने के लिए स्कूली विद्यार्थियों के एक समूह की बेवजह पिटाई करने के आरोप में गुरुवार को आठ नाबालिगों समेत 10 लड़कों को हिरासत में लिया गया है। सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) हेमंत चौहान ने बताया कि आरोपियों ने 26 फरवरी को छत्रीपुरा थाना क्षेत्र में एक निजी विद्यालय में 10वीं की परीक्षा देने के बाद घर लौट रहे विद्यार्थियों के एक समूह को अचानक बेल्ट, कड़े और चेन से पीट दिया था जिससे इलाके में सनसनी फैल गई थी।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि करीब 300 सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगालने से मिले सुरागों के आधार पर 10 आरोपियों को हिरासत में लिया गया जिनमें से आठ नाबालिग हैं। आरोपियों में शामिल लड़के 10वीं और 12वीं के विद्यार्थी हैं। पूछताछ में उन्होंने बताया कि वे दूसरे विद्यालय के छात्र-छात्राओं को पीट कर इलाके में अपना दबदबा कायम करना चाहते थे। इसी दिमागी फितूर के चलते उन्होंने बिना किसी उकसावे के विद्यार्थियों के समूह को पीट दिया था।

एसीपी ने बताया कि आरोपियों और पीड़ित पक्ष के बीच पहले से कोई जान-पहचान नहीं थी। आरोपियों के कब्जे से तीन मोटरसाइकिल जब्त की गई हैं और अब कानूनी कदम उठाए जा रहे हैं।

यह भी जानिए:
मध्य प्रदेश के डिंडोरी जिले में एक वाहन पलटने से 14 लोगों की मौत हो गई और 20 अन्य घायल हो गए। यह दुर्घटना बुधवार देर रात करीब डेढ़ बजे बड़झर घाट के पास हुई। उन्होंने बताया कि चालक ने वाहन पर से नियंत्रण खो दिया, जिसके बाद वाहन 40-50 फुट गहरी घाटी में गिर गया। अधिकारी ने बताया कि इस हादसे में 14 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 20 अन्य घायल हो गए।

पुलिस के अनुसार मृतकों में सात पुरुष, छह महिलाएं और एक नाबालिग लड़का शामिल है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने घटना पर शोक व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से मृत व्यक्तियों के परिजनों को दो लाख रुपये और घायलों के लिए 50,000 रुपये अनुग्रह राशि के तौर पर देने की घोषणा की।   

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें