फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशकाल बनकर गिरी आकाशीय बिजली, झोपड़ी में सो रहे मां, बेटे और बेटी की मौत

काल बनकर गिरी आकाशीय बिजली, झोपड़ी में सो रहे मां, बेटे और बेटी की मौत

मध्य प्रदेश की डिंडोरी में शुक्रवार देर रात आकाशीय बिजली गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में मां, बेटी और बेटा शामिल हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

काल बनकर गिरी आकाशीय बिजली, झोपड़ी में सो रहे मां, बेटे और बेटी की मौत
Subodh Mishraलाइव हिन्दुस्तान,डिंडोरीSat, 22 Jun 2024 12:23 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश की डिंडोरी में शुक्रवार देर रात आकाशीय बिजली गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में मां, बेटी और बेटा शामिल हैं। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल पहुंचाया। बताया जा रहा है कि तीनों खेत में बनी झोपड़ी में रह रहे थे।

डिंडोरी थाना क्षेत्र के करंजिया के चोरादादर गांव में शुक्रवार रात बारिश होने के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से एक परिवार के तीन सदस्य की मौत हो गई। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार से ही रुक-रुक कर बारिश हो रही थी। पीड़ित परिवार शुक्रवार रात को खेत में बनी झोपड़ी में ही रुक गया था। इसी बीच देर रात झोपड़ी पर आकाशीय बिजली गिर गई।

इस घटना में तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। मां की उम्र 32 वर्ष बताई जा रही है वहीं, मासूम बच्चे 4 साल और 6 साल के बताए जा रहे हैं। शनिवार सुबह मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस ने बताया कि ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार, देर रात खेत में आकाशीय बिजली गिरी थी। संभवत उसी से तीनों की मौत हुई है। मामले में जांच की जा रही है।

बता दें कि प्रदेश भर में प्री मानसून की आहट हो गई है। ऐसे में मौसम विभाग आकाशीय बिजली गिरने से बचने के लिए चेतावनी के साथ सुरक्षा के उपाय भी बताता है। राज्य सरकार के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा भी लोगों को सतर्क रहने के लिए दिशा निर्देश जारी किया जाता है। 

बारिश में बरतें सावधानी 

बारिश के दिनों में आकाशीय बिजली अक्सर जानलेवा साबित होती है। खेतों में काम करने वाले, पेड़ों के नीचे पनाह लेने वाले, तालाब में नहाते समय बिजली चमकने पर इसकी आगोश में आने की संभावना अधिक रहती है। कुछ उपाय ऐसे हैं जिससे आकाशीय बिजली से बचा जा सकता है। बिजली चमकते समय पेड़ के नीचे न खड़े रहें, ऊंची इमारतों वाले क्षेत्र में आश्रय न लें, समूह में खड़े होने के बजाय अलग-अलग हो जाएं। किसी मकान में आश्रय लेना बेहतर है। सफर के दौरान अपने वाहन में ही रहें। खुली छत वाले वाहन की सवारी न करें। बाइक, बिजली या टेलीफोन का खंभा, तार की बाड़ और मशीन आदि से दूर रहें। तालाब और जलाशयों से दूर रहें।

रिपोर्टः विजेन्द्र यादव