फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशतेरी बेटी का जीवन खराब कर दूंगा, इंदौर में मुस्लिम किराएदार की धमकी से डरी मकान मालकिन; खाया जहर

तेरी बेटी का जीवन खराब कर दूंगा, इंदौर में मुस्लिम किराएदार की धमकी से डरी मकान मालकिन; खाया जहर

मध्य प्रदेश के इंदौर से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। एक मकान मालकिन ने किराएदार की धमकी से डरकर जहर खा लिया। किराएदार ने अपनी पहचान छुपाकर महिला को अपने झांसे में लिया था।

तेरी बेटी का जीवन खराब कर दूंगा, इंदौर में मुस्लिम किराएदार की धमकी से डरी मकान मालकिन; खाया जहर
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,इंदौरFri, 02 Feb 2024 06:43 AM
ऐप पर पढ़ें

इंदौर शहर में 38 वर्षीय महिला ने जहर खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया है। महिला ने लव जिहाद और रेप का केस दर्ज नहीं होने पर यह कदम उठाया। गंभीर हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया। महिला की स्थिति खराब बताई जा रही है। वहीं पीड़ित महिला ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसमें उसने अपनी पूरी व्यथा लिखी है। जानकारी के अनुसार खजराना थाना क्षेत्र में रहने वाली महिला ने जहर खा लिया। 

महिला ने बताया कि वह लसूडिया थाना क्षेत्र में एक बुटीक चलाती है। कुछ समय पहले जब वह खजराना थाना क्षेत्र में रहती थी तो पति के छोड़कर चले  जाने के बाद घर का खर्च चलाने के लिए उसने किराए पर एक कमरा दिया था। किराएदार ने तब अपना नाम लकी बताया था। धीरे-धीरे उसने मकान मालकिन को अपने झांसे में ले लिया और उससे शादी का वादा कर बैठा। लकी ने 38 वर्षीय महिला से संबंध बनाए और अपने जाल में फंसा लिया। कुछ समय बाद पीड़ित महिला को लकी ने बताया कि उसका असली नाम लाल खान है तो वह चौंक गई। 

लाल ने कहा कि अगर तुम्हें मुझसे शादी करनी है तो तुम्हें अपना धर्म परिवर्तन करना होगा। इसके बाद वह लंबे समय तक पीड़िता को धमकी देता रहा। महिला ने यह भी बताया कि लाल खान अब उसकी बेटी का जीवन खराब करने की धमकी दे रहा है। पीड़ित महिला ने सुसाइड नोट में यह भी लिखा है कि किराएदार लाल द्वारा उसे कई बार धमकी मिली। वह इसकी शिकायत पुलिस में करना चाहती थी लेकिन पीड़िता के साथ उसके पति का नाम भी जुड़ा हुआ है। 

महिला ने बताया कि जब उसने लाल को कहा कि वह पुलिस के पास जाएगी तो उसने उसे धमकी दी थी कि यदि हम जेल चले गए तो बाहर आने के बाद उसकी बेटी का जीवन खराब कर देंगे। इस कारण वह काफी डरी हुई थी और अपने बच्चों के लिए उसने रिपोर्ट नहीं कराई। लेकिन वह इतनी परेशान हो गई कि उसने गुरुवार दोपहर को जहर खा लिया। महिला ने यह भी बताया कि इससे पहले उसने वरिष्ठ अधिकारियों को 19 जनवरी को शिकायत की थी।

वरिष्ठ अधिकारियों ने लसूड़िया थाना जाने की बात कही थी। इसके बाद पीड़िता थाने पहुंची तो 22 जनवरी को आने के लिए कहा गया। 23 को जब पीड़िता थाने पहुंची तो बयान के लिए गए 5 दिन बाद पुलिस ने आरोपी को थाने बुलाकर पूछताछ की। लेकिन महिला की ओर से केस दर्ज नहीं कराया गया। पूरे मामले को लेकर लसूडिया पुलिस का कहना है कि जिस वक्त आरोपी को हिरासत में लिया गया था उस समय पीड़िता द्वारा किसी प्रकार की रिपोर्ट नहीं लिखी गई। इस कारण हमें आरोपी को छोड़ना पड़ा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें