फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मध्य प्रदेश‘मेरे बेटे को फंसाया गया है’, सुल्ली डील्स ऐप मास्टरमाइंड ओमकारेश्वर के पिता ने कहा

‘मेरे बेटे को फंसाया गया है’, सुल्ली डील्स ऐप मास्टरमाइंड ओमकारेश्वर के पिता ने कहा

दिल्ली पुलिस ने इंदौर के राजेन्द्र नगर इलाके के न्यूयॉर्क सिटी टाउनशिप से सुल्ली डील्स ऐप के मास्टरमाइंड ओमकारेश्वर ठाकुर को गिरफ्तार किया है। अब ओमकारेश्वर के पिता अखिलेश ठाकुर ने कहा है कि उनके...

‘मेरे बेटे को फंसाया गया है’, सुल्ली डील्स ऐप मास्टरमाइंड ओमकारेश्वर के पिता ने कहा
Deepakलाइव हिंदुस्तान,इंदौरSun, 09 Jan 2022 02:20 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

दिल्ली पुलिस ने इंदौर के राजेन्द्र नगर इलाके के न्यूयॉर्क सिटी टाउनशिप से सुल्ली डील्स ऐप के मास्टरमाइंड ओमकारेश्वर ठाकुर को गिरफ्तार किया है। अब ओमकारेश्वर के पिता अखिलेश ठाकुर ने कहा है कि उनके बेटे को फंसाया गया है। 

कहा-कुछ लोगों ने लिया है नाम
अखिलेश ठाकुर के मुताबिक उनका बेटा आईटी एक्सपर्ट है। उसने आईपीएस कॉलेज से बीसीए किया है। दिल्ली पुलिस के दो अफसरों ने बताया कि उनके बेटे का नाम बुल्ली बाई ऐप केस में पकड़ाए आरोपियों ने नाम लिया है। आरोपियों पुलिस को बताया कि ओमकारेश्वर ठाकुर नाम का युवक है जो ब्लॉग वगैरह बनाता है। इसके बाद पुलिसवाले यहां आए थे और उसे लेकर गए हैं। उसका मोबाइल और लैपटॉप भी ले गए हैं। केवल किसी के बोलने के आधार पर उसे ले जाया गया है। 

ऐसे हुई गिरफ्तारी
पिता अखिलेश ने बताया कि दिल्ली सायबर सेल के दो अधिकारी सादी वर्दी में  शनिवार को दोपहर दो बजे आए थे। उन्होंने पहले पूछा कि ओमकारेश्वर ठाकुर यहीं रहता है? इसके बाद पुलिस टीम ओमकारेश्वर के रूम में गई। वह लोग उससे मिले और उसे अपने साथ लेकर चले गए। उन्होंने बताया कि शाम 7 बजे वाली फ्लाइट से ओमकारेश्वर को अपने साथ लेकर रात 9 बजे दिल्ली पहुंच गए। आज सुबह दिल्ली के अधिकारियों ने मेरे बेटे से बात भी कराई है। ओमकारेश्वर ने कहा है कि पापा आप टेंशन ना लें।

इंदौर पुलिस को नहीं लगी भनक
सुल्ली ऐप के मास्टर माइंड ओमकारेश्वर ठाकुर की गिरफ्तारी की खबर इंदौर पुलिस को कानोकान खबर तक नहीं लगी। सुबह दिल्ली पुलिस के ट्वीट के बाद इंदौर के पुलिस अधिकारियों को ओमकारेश्वर की गिरफ्तारी की जानकारी लगी। इसके बाद इंदौर पुलिस के अधिकारी ओमकारेश्वर के घर पहुंचे और उसके अपने साथ लेकर गए।

epaper