फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशआवारा कुत्तों का आतंक, 2 साल के मासूम को नोच-नोचकर मार डाला; पोस्टमार्टम के लायक नहीं बचा शव

आवारा कुत्तों का आतंक, 2 साल के मासूम को नोच-नोचकर मार डाला; पोस्टमार्टम के लायक नहीं बचा शव

मध्य प्रदेश के बड़वानी में आवारा कुत्तों ने 2 साल के मासूम को नोच-नोचकर मार डाला। शव इस प्रकार से क्षत-विक्षत हो गया कि पोस्टमार्टम भी नहीं किया जा सका। घटना के बाद लोग प्रदर्शन कर रहे हैं।

आवारा कुत्तों का आतंक, 2 साल के मासूम को नोच-नोचकर मार डाला; पोस्टमार्टम के लायक नहीं बचा शव
Abhishek Mishraलाइव हिन्दुस्तान,बड़वानीWed, 28 Feb 2024 10:42 AM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले से एक बड़ी ही दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। आवारा कुत्तों ने दो साल के मासूम की नोच-नोचकर जान ले ली। वार्ड क्रमांक 9 स्थित वैष्णो देवी मंदिर के करीब बने अपने घर के पास खेल रहे मासूम शौर्य को कुत्तों ने इतना नोचा कि उसकी बॉडी पोस्टमार्टम करने लायक भी नहीं बच पाई।

इधर इस दुःखद घटना को लेकर मासूम के पिता रवि ने बताया कि सुबह वे घर मे सोए हुए थे और मासूम शौर्य की मां घर में शौच के लिए गई हुई थीं। इसी समय बालक बाहर खेलने गया, तभी घर के पास ही 8 से 10 कुत्तों ने बालक पर अचानक हमला कर उसे बुरी तरह से नोच दिया। जिसमे वह बुरी गम्भीर रूप से घायल हो गया। बच्चे की आवाज सुन मां ने दौड़कर बड़ी मशक्कत से उसे आवारा कुत्तों से बचाया। पहले पास के एक निजी अस्पताल लेकर गए जहां से सरकारी अस्पताल भेजा गया। वहां भी डॉक्टरों ने कोशिश की पर आखिर में बच्चे की मौत हो गई।

घटना को लेकर निगम परिसर में दिया गया धरना

इस घटना के बाद से ही नगर में आमलोगों का नगर पालिका की व्यवस्थाओं को लेकर आक्रोश देखने को मिला तो वहीं नेता प्रतिपक्ष राकेश सिंह सहित कुछ पार्षद इसको लेकर धरने पर भी बैठ गए। उन्होंने बताया की यह घटना उनके ही वार्ड क्रमांक 9 में हुई है जहां नरभक्षी कुत्तों ने 2 साल के मासूम को इस कदर घायल कर दिया की उसका शरीर पोस्टमार्टम के लायक भी नहीं बच पाया। यह समस्या सिर्फ उनके वार्ड क्रमांक 9 की ही नहीं बल्कि पूरे बड़वानी नगर की है।

पशु प्रेमी संगठन करा देते हैं एफआईआर

वहीं नगर पालिका बड़वानी के सीएमओ कुशाल सिंह दुबे ने बताया कि हम लोग तो आवारा कुत्तों को पकड़ने की कार्रवाई हमेशा करते रहते हैं, लेकिन कुछ पशु प्रेमी संगठनों के चलते वे इन कुत्तों को नहीं पकड़ पाते। यहां तक कि इसको लेकर उनके ऊपर एफआईआर तक हो चुकी है। हालांकि फिर भी हम कुत्ते पकड़ रहे हैं। साथ ही जो हाट बाजार में आसपास के लोगों के साथ आने वाले कुत्ते भी भटककर यही रह जाते हैं। तो वहीं कचरा ग्राउंड के पास ही फेंके गए मृत पशुओं को खाने के बाद ये कुत्ते हमलावर हो रहे हैं। हालांकि वे जल्द से जल्द आवारा कुत्तों को पकड़ने का मुहिम शुरू करेंगे ताकि ऐसी घटना दुबारा नही हो।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें