फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशबेटे ने ली मां की जान, चांटा मारने से था नाराज; लाश ठिकाने लगाकर करता रहा पार्टी

बेटे ने ली मां की जान, चांटा मारने से था नाराज; लाश ठिकाने लगाकर करता रहा पार्टी

बताया जा रहा है कि शराब के नशे में खाना मांगने पर मां ने आरोपी को चांटा मार दिया था। बेटा इसी बात से नाराज हो गया और दोस्त के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दे दिया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

बेटे ने ली मां की जान, चांटा मारने से था नाराज; लाश ठिकाने लगाकर करता रहा पार्टी
Sourabh Jainलाइव हिंदुस्तान,मंदसौर, मध्य प्रदेशTue, 18 Jun 2024 08:44 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले से एक झकझोर कर रख देने वाली वारदात सामने आई है। यहां के भानपुरा थाना क्षेत्र के कचहरी चौक में एक कलयुगी बेटे ने अपनी बुजुर्ग मां की हत्या कर दी और उसे घर में ही गाड़ दिया। इसके बाद ऊपर से गद्दा रख दिया, और तीन दिनों तक उसी कब्र के ऊपर बैठकर दोस्त के साथ शराब पार्टी करता रहा। वारदात में आरोपी बेटे के साथ उसका दोस्त भी शामिल था। हालांकि घटना के पांच दिन बाद पुलिस को इसकी भनक लग गई और उसने आरोपी बेटे के साथ उसके दोस्त को पुलिस गिरफ्तार करते हुए वृद्धा की लाश बरामद कर ली। 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कचहरी चौक निवासी कमलेश पिता कन्हैयालाल धोबी (35) ने अपने दोस्त संतोष पिता बसंती लाल धोबी (50) के साथ 12 जून को भानपुरा के बड़ा महादेव रोड पर दिनभर शराब पार्टी की थी। रात 10 बजे वह दोस्त के साथ नशे में धुत होकर घर पहुंचा। आरोपी ने मां से कहा जल्दी से खाना परोस दे। नशे में धुत बेटे को देखकर मां गंगाबाई नाराज हो गई। उसने गुस्से में बेटे को गाल पर चांटा मार दिया। मां का चांटा पड़ा तो बेटा गुस्से में आगबबूला हो गया और उसने दोस्त के साथ मिलकर मां को पीटना शुरू कर दिया। उसने गंगाबाई को धक्का दिया तो उसका सिर सीधे पानी का मटका रखने की पट्टी से जा टकराया। इससे उसके सिर से खून बहने लगा और वह जमीन पर गिर गई और काफी देर तक तड़पती रही।

इसके बाद मां को मरा हुआ समझकर दोनों ने रात में ही गड्ढा खोदा और उसमें गाड़ दिया, फिर ऊपर से मिट्टी डालकर उसके ऊपर गद्दा रख दिया। पुलिस ने शव को बाहर निकाल पोस्टमार्टम करवाया, वहीं दोनों आरोपियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है। 

सेप्टिक टैंक के लिए खोदे गड्ढे में लाश को डाला  

बताया जा रहा है कि आरोपी ने दोस्त की मदद से घर में सेप्टिक टैंक के लिए खोदे गए गड्ढे में मां की लाश को दफन किया और ऊपर से रेत डाल दी, फिर गद्दा बिछा दिया। गंगाबाई की लाश को ठिकाने लगाने के बाद दोस्त अपने घर चला गया, जबकि बेटा कब्र के ऊपर ही सो गया। तीन दिन बाद जब बदबू आने लगी तो आरोपी बेटा राजस्थान के पगारिया गांव स्थित अपने ननिहाल भाग गया।

बदबू आने पर पड़ोसियों ने मृतका के दामाद को सूचना दी। इसके बाद पुलिस भी मौके पर पहुंची। यहां 58 वर्षीय मृतक महिला गंगाबाई पति कन्हैयालाल धोबी का शव गड्ढे में दबा हुआ घर के अंदर मिला। पड़ोसियों का कहना है कि मृतका गंगाबाई लकवा ग्रस्त थीं। पुलिस ने दामाद की सूचना पर घर के अंदर गद्दा (बिस्तर) हटाकर गड्ढा खुदवाया तो गंगाबाई की लाश इसमें दबी हुई मिली।  

जीजा को हुआ शक पुलिस को दी सूचना

बताया जा रहा है की 17 जून को आरोपी कमलेश मुंडन करवाकर भानपुरा लौट आया। आरोपी के मुंडन करवाने से गांव में ही रहने वाले दामाद भगवान लाल शर्मा को शंका हुई। उन्होंने मुंडन का कारण और सास गंगाबाई की खैर खबर पूछी। आरोपी उसकी बात सुनकर घबरा गया और बिना कुछ कहे घर की ओर भाग गया। साले की इस हरकत से भगवान भी सीधे घर पहुंचा। यहां सेप्टिक टैंक के पास खोदे गए गड्ढे से दुर्गंध आ रही थी। जिसके बाद उसने पुलिस को खबर कर दी।

मामले का खुलासा करते हुए SDOP राजाराम धाकड़ ने बताया कि कचहरी चौक के रहने वाले युवक ने मां को मारकर घर में गाड़ दिया था। पुलिस टीम मौके पर पहुंची और जांच की। इसके बाद FSL की टीम को सूचना दी गई तो महिला का शव घर के अंदर करीब दो फीट गड्ढे के अंदर दबा मिला। इसके बाद FSL की टीम को सूचना दी गई। पुलिस ने कमलेश पिता कन्हैयालाल धोबी तथा उसके दोस्त संतोष पिता बसंती लाल धोबी को हिरासत में लिया है।

रिपोर्ट विजेन्द्र यादव