फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशसाढ़े सोलह साल बाद 'मामा का राज' खत्म, शिवराज सिंह चौहान ने सीएम पद से दिया इस्तीफा

साढ़े सोलह साल बाद 'मामा का राज' खत्म, शिवराज सिंह चौहान ने सीएम पद से दिया इस्तीफा

Shivraj Singh Chouhan resign: शिवराज सिंह चौहान इस्तीफा देने के लिए राजभवन पहुंच गए हैं। उन्होंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा दे दिया है। उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया गया है।

साढ़े सोलह साल बाद 'मामा का राज' खत्म, शिवराज सिंह चौहान ने सीएम पद से दिया इस्तीफा
Devesh Mishraलाइव हिंदुस्तान,भोपालMon, 11 Dec 2023 06:39 PM
ऐप पर पढ़ें

Shivraj Singh Chouhan resign: ऐसा भैया मिलेगा नहीं, जब मैं चला जाऊंगा तो बहुत याद आऊंगा.... मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने यह बात मंच से भावुक होते हुए बोली थी। सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मोहन यादव को मध्य प्रदेश का नया सीएम बनाया है। इस ऐलान के बाद शिवराज सिंह चौहान राजभवन पहुंच गए हैं। उन्होंने राज्यपाल मंगूभाई पटेल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। राज्यपाल ने उनका इस्तीफा मंजूर भी कर लिया है।

साढ़े सोलह साल बाद खत्म हुआ 'राज'
शिवराज सिंह चौहान बुधनी विधानसभा सीट से विधायक हैं। 'मामा' के नाम से मशहूर शिवराज सिंह पहली बार साल 2005 में मुख्यमंत्री बने थे। बीच में केवल 15 महीने छोड़कर एमपी में करीब साढ़े सोलह साल तक लगातार 'मामा का राज' रहा। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि इस चुनाव (2023) में भाजपा की बंपर जीत के पीछे 'लाडली बहना योजना' का अहम योगदान है। महिलाओं ने इस चुनाव में भाजपा को जमकर वोट दिया था।

नए चेहरे को मौका...
तीन दिसंबर को मध्य प्रदेश चुनाव के नतीजे घोषित किए गए। इसी दिन से अटकलबाजियों का दौर जारी है। ऐसा कहा जा रहा था कि भाजपा किसी नए चेहरे को मौका देगी। और ठीक वैसा ही हुआ। भाजपा ने मोहन यादव, जो राज्य के एक बड़े ओबीसी नेता हैं, को नया मुख्यमंत्री बनाया है। ऐसे में यह माना जा रहा है कि शिवराज सिंह चौहान को अब केंद्र में कोई बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है।

मिशन-29 का आगाज
चुनावी नतीजे सामने आने के बाद से ही शिवराज सिंह चौहान ऐक्शन मोड में दिख रहे हैं। बीते दिनों उन्होंने 'मिशन-29' का आगाज कर दिया है। शिवराज ने कहा था कि आगामी लोकसभा चुनाव में सूबे की 29 लोकसभा सीटों पर भाजपा की जीत होने वाली है और वो उसके लिए जुट गए हैं। उन्होंने खुद को भाजपा का एक कार्यकर्ता बताते हुए कहा था कि नेतृत्व जो भी फैसला करेगी वो मुझे स्वीकार होगा। नेतृत्व ने मनोज यादव पर भरोसा जताया है और उन्हें सीएम बनाया है। ऐसे में अब 'मामा' के साथ भाजपा क्या करने वाली है यह तो आने वाला समय ही बताएगा...  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें