फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशअपन रिजेक्टेड नहीं लेकिन... MP के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बता दी 'दिल की बात'

अपन रिजेक्टेड नहीं लेकिन... MP के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बता दी 'दिल की बात'

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को पुणे के एक विश्वविद्यालय में कहा, 'मुझे अब पूर्व मुख्यमंत्री के रूप में संबोधित किया जाता है लेकिन अपन रिजेक्टेड नहीं हैं।'

अपन रिजेक्टेड नहीं लेकिन... MP के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बता दी 'दिल की बात'
Devesh Mishraलाइव हिंदुस्तान,भोपालSat, 13 Jan 2024 12:24 PM
ऐप पर पढ़ें

साल 2023 के अंत में हुए विधानसभा चुनाव में मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शानदार जीत दर्ज की। राजनीतिक जानकारों ने इस विक्ट्री के पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गारंटी और सीएम शिवराज सिंह चौहान की जनकल्याणकारी योजनाओं को मुख्य कारण बताया। हालांकि चुनावी नतीजे आने के बाद से ही सूत्रों के हवाले से यह बताया जाने लगा कि भगवा दल चार बार से सीएम रहे शिवराज की जगह किसी नए चेहरे को मुख्यमंत्री बना सकती है। और हुआ भी यही... पार्टी नेतृत्व ने मोहन यादव को सीएम बनाया। पार्टी के इस फैसले के बाद कई भावुक कर देने वाले वीडियो भी सामने आए जिसमें लोग शिवराज को गले लगाकर रोते हुए दिखे। लेकिन 'मामा' ने खुद को पार्टी का एक सामान्य कार्यकर्ता बताया और 'मिशन-29' में जुटे रहे। ऐसे में शिवराज सिंह चौहान का एक नया वीडियो वायरल हो रहा है। उसमें उन्होंने बताया कि वो रिजेक्टेड सीएम नहीं हैं। आइए जानते हैं पूर्व सीएम ने क्या-क्या कहा...

अपन रिजेक्टेड नहीं लेकिन...
मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को पुणे के एक विश्वविद्यालय में कहा, 'मुझे अब पूर्व मुख्यमंत्री के रूप में संबोधित किया जाता है लेकिन अपन रिजेक्टेड नहीं हैं। कई बार मुख्यमंत्री तब पद छोड़ते हैं जब उन्हें जनता नकार देती है या गाली देने लगती है कि बहुत दिन हो गया, यहीं बैठा हुआ है। अपन छोड़कर भी आए तो ऐसे आए कि जहां जाते हैं वहां लोग मामा-मामा कहते हैं। जनता का प्यार मेरी असली दौलत है।'

बता दी दिल की बात!
एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक पूर्व सीएम ने कहा, 'मुख्यमंत्री पद से हट जाने का यह मतलब नहीं है कि मैं सक्रिय राजनीति छोड़ दूंगा। मैं राजनीति में किसी पद के लिए नहीं हूं। मैं जनता की सेवा करने के लिए हूं।'

राजतिलक होते-होते वनवास हो जाता है...
बीते दिनों पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सीहोर में कहा, कई बार राजतिलक होते-होते वनवास हो जाता है। लेकिन यह किसी उद्देश्य के लिए होता है।' गौरतलब है कि सीएम पद से हटने के बाद भगवा दल ने अभी तक शिवराज को कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं दी है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही पार्टी नेतृत्व उन्हें अहम जिम्मेदारी दे सकती है। हालांकि बीते दिनों शिवराज ने कहा कि वो 'मिशन-29' में जुटे हैं। यानी इस साल होने जा रहे लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश के सभी 29 सीटों पर भाजपा को जिताने की तैयारी में 'मामा' लग गए हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें