फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मध्य प्रदेशPM नरेंद्र मोदी के दीर्घायु जीवन के लिए शिवराज सिंह चौहान ने किया महामृत्युंजय जाप, पूरे MP में हैं आयोजन

PM नरेंद्र मोदी के दीर्घायु जीवन के लिए शिवराज सिंह चौहान ने किया महामृत्युंजय जाप, पूरे MP में हैं आयोजन

पीएम नरेंद्र मोदी के दीर्घायु जीवन की कामना करते हुए मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान महामृत्युंजय जाप किया है। गुरुवार को भोपाल के गुफा वाले मंदिर में प्रदेश के कई नेताओं के साथ सीएम शिवराज...

PM नरेंद्र मोदी के दीर्घायु जीवन के लिए शिवराज सिंह चौहान ने किया महामृत्युंजय जाप, पूरे MP में हैं आयोजन
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान ,भोपालThu, 06 Jan 2022 02:08 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

पीएम नरेंद्र मोदी के दीर्घायु जीवन की कामना करते हुए मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान महामृत्युंजय जाप किया है। गुरुवार को भोपाल के गुफा वाले मंदिर में प्रदेश के कई नेताओं के साथ सीएम शिवराज सिंह चौहान पहुंचे और जाप किया। इससे पहले उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि पीएम की सुरक्षा में चूक की घटना बेहद गंभीर है और पंजाब सरकार इसके लिए जिम्मेदार है। पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक के मामले को भाजपा राजनीतिक मुद्दे में तब्दील करती दिख रही है। होम मिनिस्टर अमित शाह, स्मृति ईरानी समेत कई टॉप नेताओं ने इसे लेकर हमला बोला। वहीं अब जन-जन तक इस मुद्दे को भाजपा पहुंचाने की कोशिश में जुटी है। 

एक तरफ मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंदिर में जाप किया तो वहीं राज्य के अन्य तमाम मंदिरों में भी यह आयोजन होना है।  प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा व मंत्री मोहन यादव ने महाकाल मंदिर में महामृत्युंजय जाप किया है। सभी जिलों में मशाल जुलूस भी आयोजित किए जा रहे हैं। इधर, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पीएम की सुरक्षा में चूक पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से स्पष्टीकरण देने की मांग कर दी है। भाजपा का महिला मोर्चा प्रदेश के हर जिले में महामृत्युंजय जाप करेगा। सुरक्षा में चूक को लेकर भाजपा ने कांग्रेस पर हमला तेज कर दिया है। एक तरफ पार्टी ने कांग्रेस पर हमला बोला है तो वहीं नेता महामृत्युंजय जाप में हिस्सा लेकर सहानुभूति हासिल करने की कोशिश करते दिख रहे हैं।

पंजाब में हुई घटना के बाद से देश भर में राजनीतिक माहौल गरम है। माना जा रहा है कि 5 राज्यों के चुनाव से ठीक पहले हुई यह घटना यदि राजनीतिक मुद्दा बनती है तो फिर पंजाब ही नहीं बल्कि देश के अन्य राज्यों में भी कांग्रेस को नुकसान हो सकता है। अब तक कांग्रेस लीडरशिप इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने से बचती हुई दिखी है। यही नहीं नवजोत सिंह सिद्धू भी अब तक चुप हैं, जो किसी भी मुद्दे पर बेबाकी से बोलने के लिए जाने जाते हैं। इससे साफ है कि कांग्रेस इस मामले को लेकर कितनी सतर्कता बरत रही है और भाजपा को किसी भी तरह की सहानुभूति लेने का मौका नहीं देना चाहती।

epaper