फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशयह वर्दीवाला तो बहुत धोखेबाज निकला, अपने ही परिवार से वसूल रहा था 40 लाख की फिरौती

यह वर्दीवाला तो बहुत धोखेबाज निकला, अपने ही परिवार से वसूल रहा था 40 लाख की फिरौती

मध्य प्रदेश के मुरैना में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। एक कांस्टेबल की पत्नी थाना पहुंची और बताया कि उसके पति का अपहरण हो गया है। उससे 40 लाख रुपये की मांग की गई है। जांच में मामला कुछ और निकला।

यह वर्दीवाला तो बहुत धोखेबाज निकला, अपने ही परिवार से वसूल रहा था 40 लाख की फिरौती
crime
Subodh Mishraलाइव हिन्दुस्तान,मुरैनाThu, 13 Jun 2024 05:50 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के मुरैना से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां लोगों की सुरक्षा करने वाली पुलिस के एक कांस्टेबल ने झूठे अपहरण की कुछ ऐसी कहानी रची कि पूरे महकमे में हड़कंप मच गया। हुआ यूं कि बुधवार दोपहर को सबलगढ़ थाने में लक्ष्मी रावत नाम की एक महिला पहुंची। उसने खुद को निरार थाने में तैनात कांस्टेबल शिवशंकर रावत की पत्नी बताया। रोती हुई लक्ष्मी ने पुलिसकर्मियों को बताया कि उसके पति का अपहरण हो गया है। 

महिला ने बताया कि अपहरण करने वाले डकैत पति को छोड़ने के एवज में 40 लाख रुपये की फिरौती मांग रहे हैं। रुपये नहीं देने पर पति की लाश टुकड़ों में भेजने की धमकी दे रहे हैं। दरअसल, एक पुलिसकर्मी ने खुद का अपहरण होने की झूठी कहानी रची और खुद ही नए नंबर से कॉल करके 40 लाख रुपये की फिरौती भी मांग डाली।

महिला की शिकायत पर पुलिस की प्राथमिक जांच पड़ताल में मामला अपहरण जैसा ही लगा। कांस्टेबल की मोबाइल लोकेशन ट्रेस करते हुए सबलगढ़ थाने की पुलिस टीम करौली पहुंच गई। करौली में बस स्टैंड के पास एक मकान में कांस्टेबल सोता हुआ मिला। यह मकान उसके मामा का था।

कांस्टेबल के साथ उसका एक दोस्त भी था। पुलिस टीम ने वह मोबाइल भी जब्त कर लिया, जिससे फिरौती के लिए फोन आया था। पता चला है कि यह मोबाइल कांस्टेबल शिवशंकर रावत का ही है। उसने ही आवाज बदलकर अपनी पत्नी लक्ष्मी को अपहरण की बात बताते हुए 40 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी।

कांस्टेबल शिवशंकर रावत ने विभाग से तीन दिन की छुट्टी ली थी। वह राजस्थान के करौली शहर में शादी समारोह में शामिल होने के लिए गए थे। वहीं पर उसने खुद के अपहरण की झूठी कहानी गढ़ी और पत्नी के नंबर पर कॉल करके फिरौती की मांग की। कांस्टेबल के अपहरण की खबर लगते ही पुलिस महकमे में भी हड़कंप मच गया था।