फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेश'कमल' को छोड़ फिर नाथ के साथ आए छिंदवाड़ा मेयर विक्रम अहाके, 18 दिन में ही मारी पलटी; देखें वायरल VIDEO

'कमल' को छोड़ फिर नाथ के साथ आए छिंदवाड़ा मेयर विक्रम अहाके, 18 दिन में ही मारी पलटी; देखें वायरल VIDEO

मध्य प्रदेश की 6 सीटों पर जारी वोटिंग के बीच आज छिंदवाड़ा के मेयर विक्रम अहाके का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इसमें वह छिंदवाड़ा की जनता से नकुलनाथ के पक्ष में मतदान की अपील कर रहे हैं।

'कमल' को छोड़ फिर नाथ के साथ आए छिंदवाड़ा मेयर विक्रम अहाके, 18 दिन में ही मारी पलटी; देखें वायरल VIDEO
mayor
Praveen Sharmaभोपाल। वार्ताFri, 19 Apr 2024 02:40 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण में आज मध्य प्रदेश की 6 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। इस बीच, कुछ दिन पहले ही कांग्रेस छोड़कर भाजपा में गए कमलनाथ के करीबी और छिंदवाड़ा के मेयर विक्रम अहाके का अब भगवा दल से मोह भंग हो गया है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में विक्रम अहाके छिंदवाड़ा की जनता से नकुलनाथ और कांग्रेस में के पक्ष में मतदान की अपील करते  दिख रहे हैं।

ऐसे में ऐन मतदान के दिन राज्य की सबसे चर्चित सीट छिंदवाड़ा के मेयर विक्रम अहाके द्वारा 18 दिन के भीतर ही भाजपा से कांग्रेस में 'घर वापसी' के चलते ये सीट आज एक बार फिर सबकी चर्चाओं का केंद्र बन गई है।

दरअसल, छिंदवाड़ा मेयर अहाके ने शुक्रवार सुबह सोशल मीडिया पर बिना किसी का नाम लिए एक वीडियो जारी कर कहा है कि जिस दिन से उन्होंने (अहाके ने) एक दूसरा राजनीतिक दल (भाजपा) जॉइन किया उसी दिन से उन्हें लग रहा था कि वे गलत कर रहे हैं। उस इंसान (कमलनाथ) के साथ गलत कर रहे हैं, जिन्होंने छिंदवाड़ा का विकास किया है।

इसी क्रम में वे कह रहे हैं कि आज अगर वे कमलनाथ और नकुलनाथ के साथ खड़े नहीं हुए, तो उन्हें ठीक नहीं लगेगा। साथ ही उन्होंने लोगों से छिंदवाड़ा की जनता से भी कांग्रेस प्रत्याशी नकुलनाथ को भारी बहुमत से विजयी बनाने की अपील भी की। छिंदवाड़ा लोकसभा सीट पर आज ही मतदान हो रहा है।

कमलनाथ के कट्टर समर्थक माने जाने वाले अहाके ने कुछ दिन पहले भाजपा जॉइन कर ली थी। उनके साथ ही छिंदवाड़ा संसदीय क्षेत्र की अमरवाड़ा विधानसभा से कांग्रेस विधायक कमलेश शाह और क्षेत्र के कद्दावर कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री दीपक सक्सेना भी भाजपा में चले गए थे। ये सभी नेता कमलनाथ के बेहद करीबी माने जाते हैं। इसके बाद आज अहाके के इस कदम ने कमलनाथ के गृह क्षेत्र छिंदवाड़ा को लेकर चर्चाओं काे और बल दे दिया है।