फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ मध्य प्रदेशखतरे के निशान पर नर्मदा का जलस्तर, कई गांव में पानी घुसने का खतरा बढ़ा, सीएम ने जनता से की अपील

खतरे के निशान पर नर्मदा का जलस्तर, कई गांव में पानी घुसने का खतरा बढ़ा, सीएम ने जनता से की अपील

मैं एक ही आग्रह करना चाहता हूं कि आप प्रशासन की बात जरूर मानें। यदि प्रशासन ऊंचे स्थानों पर जाने को कहें तो अपने घर खाली करके ऊंचे स्थानों पर जाए। आपकी जिंदगी हमारे लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है।

खतरे के निशान पर नर्मदा का जलस्तर, कई गांव में पानी घुसने का खतरा बढ़ा, सीएम ने जनता से की अपील
Suyash Bhattलाइव हिंदुस्तान,भोपालTue, 16 Aug 2022 11:31 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से प्रकोप बना हुआ है। कई जिलों में भारी बारिश के कारण बांधों में जलस्तर बढ़ गया है। बांधों के गेट खोलने से नर्मदा नदी समेत कई प्रमुख नदियों के आसपास के गांव में बाढ़ की स्थिति निर्मित होने की संभावना बढ़ गई है। इसके चलते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनता से अपील की है। 

उन्होंने कहा कि कई जिलों में लगातार बारिश हो रहीं हैं। और मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार आज भी कई जिलों में भारी बारिश की संभावना है। प्रदेश के भोपाल, विदिशा, नर्मदापुरम समेत कई जिलों में काफी बारिश हुई है। इसके कारण हमारे सभी बांध भर गए है। अभी बरगी, बारना, तवा और भोपाल में कोलार बांध के गेट भी खोलने पड़े है। इसके चलते नर्मदा नदी का जलस्तर खतरे के निशान को छू रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन बांधो से पानी रेगुलेट करके नियंत्रित करके पानी निकालने की पूरी कोशिश जारी है निकाले। इसलिए जब बरगी का पानी नर्मदापुरम, सीहोर और रायसेन जिले में पहुंचे तब तवा और बरना के गेट यथासंभव बंद करे या कम पानी निकाले। इस दौरान प्रशासन से कहा कि पानी रेगुलेट करके निकालें और बाढ़ की स्थिति निर्मित ना हो उसकी भी पूरी कोशिश करें।

सीएम ने नर्मदा नदी और अन्य नदियों में बांध का पानी निकालने से कुछ गांव में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो सकती है। मेरा सभी प्रभावित जिलों के भाईयों और बहनों से अपील है कि सावधानी जरूर रखें। संबंधित जिलों के कलेक्टर और एसपी मेरे संपर्क में है। पानी जहां ज्यादा बढ़ने की संभावना है, वहां एसडीएआरएफ की टीमें भेज दी गई है। टीमों को अलग-अलग स्थानों पर रवाना किया गया है।

उन्होंने आगे कहा कि मैं एक ही आग्रह करना चाहता हूं कि आप प्रशासन की बात जरूर मानें। यदि प्रशासन ऊंचे स्थानों पर जाने को कहें तो अपने घर खाली करके ऊंचे स्थानों पर जाए। आपकी जिंदगी हमारे लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। पशुओं को भी गांव में ना छोड़े।