फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशMP: कलेक्टरी नौकरी छोड़ निशा बांगरे ने थामा कांग्रेस का हाथ, फिर भी नहीं मिला टिकट, आगे क्या?

MP: कलेक्टरी नौकरी छोड़ निशा बांगरे ने थामा कांग्रेस का हाथ, फिर भी नहीं मिला टिकट, आगे क्या?

Nisha Bangre Joins Congress: मध्य प्रदेश में डिप्टी कलेक्टर के पद पर काम कर रही निशा बांगरे ने यह नौकरी छोड़ने के बाद अब सियासत में एंट्री ली है। उन्होंने गुरुवार को कांग्रेस का हाथ थाम लिया।

MP: कलेक्टरी नौकरी छोड़ निशा बांगरे ने थामा कांग्रेस का हाथ, फिर भी नहीं मिला टिकट, आगे क्या?
Krishna Singhलाइव हिंदुस्तान,छिंदवाड़ाThu, 26 Oct 2023 04:42 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश में डिप्टी कलेक्टर की नौकरी छोड़ने के बाद निशा बांगरे ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख कमलनाथ ने गुरुवार को छिंदवाड़ा में एक जनसभा में निशा बांगरे को पार्टी की सदस्यता दिलाई। हालांकि कांग्रेस उन्हें टिकट नहीं देगी। यह बात कमलनाथ ने स्पष्ट कर दी है। कमलनाथ ने मंच से कहा कि निशा बांगरे चुनाव नहीं लड़ रही हैं। कोई बात नहीं लेकिन मध्य प्रदेश को आपकी सेवाओं की जरूरत है। गौरतलब है कि निशा बांगरे के बैतूल जिले की आमला से विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की अटकलें थीं।

समाचार एजेंसी यूनिवार्ता की रिपोर्ट के मुताबिक, मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रमुख कमलनाथ ने साफ कर दिया कि छतरपुर जिले में डिप्टी कलेक्टर के पद पर पदस्थ रहीं राज्य प्रशासनिक सेवा की अधिकारी निशा बांगरे विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। कमलनाथ ने भरी जनसभा में मंच से कहा कि आप उदाहरण बनेंगी, कोई बात नहीं, आप चुनाव नहीं लड़ रहीं, तो कोई बात नहीं, पर आपकी सेवाओं की मध्य प्रदेश में आवश्यकता है। आपको निशा बांगरे जैसी और भी महिलाएं सामने लानी पड़ेंगी, जिनके साथ इतना अत्याचार हुआ है।

वहीं कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने बताया कि निशा बांगरे ने छिंदवाड़ा में कमलनाथ के समक्ष पार्टी की सदस्यता ले ली है। कमलनाथ ने स्पष्ट कर दिया है कि पार्टी उनका पूरे प्रदेश में उपयोग करेगी। मालूम हो कि छतरपुर जिले में डिप्टी कलेक्टर के पद पर पदस्थ रहीं निशा बांगरे का त्यागपत्र अदालती लड़ाई के बाद सरकार ने दो दिन पहले स्वीकार कर लिया था। 

निशा बांगरे के कांग्रेस पार्टी की ओर से बैतूल जिले के आमला से विधानसभा चुनाव लड़ने की अटकलें थीं, लेकिन कांग्रेस ने उनका त्यागपत्र स्वीकार होने के एक दिन पहले ही आमला से अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया था। इसके बाद भी अटकलें लगाईं जा रहीं थीं कि कांग्रेस आमला सीट से अपना प्रत्याशी बदल सकती है, लेकिन कमलनाथ ने अब इन अटकलों पर लगभग विराम लगा दिया है। 

इससे पहले निशा बांगरे छिंदवाड़ा में कमलनाथ के आवास पर पहुंचीं और संवाददाताओं के सवाल पर कहा कि कांग्रेस ने मेरा इस्तीफा मंजूर होने तक इंतजार करने को कहा था अब इस्तीफा स्वीकार हो गया है, तो कमलनाथ जी से बात करने आई हूं। निशा ने यह भी कहा कि मैंने शाम को भी कमलनाथ जी से बात की थी। कमलनाथ जी ने मुझसे कहा था कि दिल्ली और भोपाल में नेताओं से बात करनी पड़ेगी इसलिए सुबह भी उनसे मिलने आई हूं। वैसे कमलनाथ के बयान से लग रहा है कि निशा बांगरे एक नेता के तौर पर कांग्रेस में रह कर काम करेंगी। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें