फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News मध्य प्रदेशमहिला के टुकड़े कर दो ट्रेनों में रखने वाला हैवान गिरफ्तार, रूह कंपा देगी वारदात की कहानी

महिला के टुकड़े कर दो ट्रेनों में रखने वाला हैवान गिरफ्तार, रूह कंपा देगी वारदात की कहानी

राजकीय रेलवे पुलिस ने एक महिला की हत्या के बाद उसके शव के टुकड़े अलग-अलग यात्री ट्रेनों में रखने के आरोप में उज्जैन से एक 60 साल के शख्स को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने कैसे और क्यों की वारदात...

महिला के टुकड़े कर दो ट्रेनों में रखने वाला हैवान गिरफ्तार, रूह कंपा देगी वारदात की कहानी
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,इंदौरSun, 23 Jun 2024 07:02 PM
ऐप पर पढ़ें

महिला की हत्या कर के उसकी लाश के टुकड़े-टुकड़े कर के अलग-अलग यात्री ट्रेनों में रखने वाले हैवान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी कमलेश पटेल उज्जैन का रहने वाला है। उसकी उम्र 60 साल बताई जा रही है। राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने बताया कि महिला अपने पति से विवाद कर उज्जैन पहुंची थी। आरोपी कमलेश पटेल ने महिला को बहला फुसलाकर हीरामील चाल स्थित रेलवे पटरी के पास बने मकान पर लेकर पहुंचा था। इसी मकान में उसने महिला की हत्या की थी। पीड़िता रतलाम जिले की रहने वाली थी। आरोपी सनकी प्रवृत्ति का बताया जा रहा है। 

मूक बधिर पत्नी ने बताई वारदात की कहानी
राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने रविवार को पूरी वारदात का खुलासा किया। जीआरपी ने बताया कि आरोपी कमलेश पटेल की मूक बधिर पत्नी ने वारदात को सुलझाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। मूक बधिर पत्नी ने बताया कि आरोपी ने पूरी वारदात को उसकी आंखों के सामने अंजाम दिया। वह उससे इस कदर डर गई थी कि वारदात का विरोध नहीं किया। वह पीड़िता मीरा बेन को बचाना चाहती थी लेकिन आरोपी के खौफ की वजह से विरोध ना कर सकी। आरोपी ने उसकी आंखों के सामने लाश के छह टुकड़े किए थे।

दुष्कर्म में नाकाम रहने पर बौखलाया और मार डाला
मूक बधिर पत्नी ने बताया कि आरोपी कमलेश पटेल ने दुष्कर्म में नाकाम रहने पर महिला की हत्या की थी। पुलिस ने प्रेस ब्रीफिंग में बताया कि महिला पति से विवाद कर उज्जैन पहुंची थी। वह मथुरा जाने के लिए रेलवे स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रही थी। आरोपी कमलेश पटेल ने महिला को परेशानी की हालत में देखा तो उसके पास गया और उससे बातचीत करने लगा। 

ट्रेन का इंतजार कर रही थी पीड़िता
आरोपी ने पीड़िता मीरा बेन से परेशानी की वजह पूछी तो उसने बताया कि वह अपने पति से झगड़ा करके आई है। वह मथुरा जाना चाहती है। इसके लिए वह ट्रेन का इंतजार कर रही है। आरोपी ने मीरा बेन को गुमराह किया कि मथुरा वाली ट्रेन निकल चुकी है। वह दूसरी ट्रेन आने तक उसके साथ उसके घर पर ठहर सकती है। महिला ने आरोपी की बातों पर यकीन कर लिया और उसके घर चली गई।

खाने में बेहोशी की दवा मिलाकर रेप की कोशिश
इसके बाद आरोपी ने मीरा बेन को खाने में बेहोशी की दवा खिला दी। आरोपी ने महिला से रेप करने की कोशिश की लेकिन पीड़िता पूरी तरह बेहोश नहीं हुई थी। अर्ध बेहोशी की हालत में महिला ने आरोपी कमलेश पटेल को दूर धकेला। फिर भी आरोपी नहीं माना। उसने मीरा बेन से जबरदस्ती करने की कोशिश की। आरोपी जब नाकाम हो गया तब उसने महिला पर रॉड से हमला कर दिया। इससे महिला मरने के करीब पहुंच गई। 

चाकू से किए लाश के टुकड़े-टुकड़े
महिला की सांसें अभी चल रही हैं, ऐसा देख आरोपी कमलेश ने उसे गला दबाकर मार डाला। इसके बाद उसने अपने चाकू से महिला की लाश के टुकड़े-टुकड़े किए। आरोपी कमलेश ने महिला की लाश के टुकड़ों को दो बोरियों में भरा। इन बोरियों को ठिकाने लगाने के लिए वह रेलवे यार्ड पहुंचा। उसने यार्ड में खड़ी ट्रेनों में बोरियों को ठिकाने लगाने की रणनीति बनाई। इसके लिए कमलेश ने पहले एक बोरा महू से नागदा की ओर जाने वाली पैंसेजर ट्रेन में रख दिया।

इसलिए एक ट्रेन में नहीं रख सका दोनों बोरियां
पुलिस ने बताया कि इसी बीच ट्रेन चल दी। इसकी वजह से आरोपी दूसरी बोरी को उसमें नहीं रख सका। वह दोबारा शाम को यार्ड में दूसरी बोरी के साथ पहुंचा। इसी बीच ऋषिकेश जाने वाली ट्रेन पहुंची तो उसने लाश के टुकड़ों से भरी दूसरी बोरी को उसमें रख दिया। शादीशुदा कमलेश यूपी के ललितपुर जिले का निवासी बताया जाता है। वह रोजगार के लिए पिछले 15 साल से उज्जैन में रह रहा था। 

मूक-बधिर पत्नी का खुलासा सुन जांच टीम के उड़े होश
पुलिस ने बताया कि आरोपी की मूक-बधिर पत्नी ने पूरी वारदात को सिलसिलेवार तरीके से बताया। पुलिस को पहले उसकी बात समझ में नहीं आ रही थी। इसके लिए उसने मूक-बधिर एक्सपर्ट को बुलाया और आरोपी की पत्नी का बयान रिकॉर्ड किया। मूक-बधिर पत्नी ने वारदात की जो कहानी बताई उसे सुन जांच टीम के होश उड़ गए। पत्नी ने बताया कि आरोपी ने छुरे से उसके सामने ही लाश के टुकड़े किए थे। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात में इस्तेमाल छुरा एवं अन्य अहम सबूत बरामद किए गए हैं।

हाथ पर गुदे टैटू से भी पुलिस को मिली मदद
उल्लेखनीय है कि 9 जून को इंदौर की रेलवे पुलिस ने महू पैसेंजर में बोरे में बंद एक महिला का धड़ बरामद किया था। महिला के कटे हाथ और बॉडी के कुछ हिस्से उज्जैन से पहुंची उज्जैनी एक्सप्रेस से ऋषिकेश में बरामद किए गए थे। महिला के हाथ पर मीरा बेन लिखा था। इस आधार पर पुलिस ने जांच शुरू की थी।

चोरी के मामले में पकड़ा जा चुका है आरोपी
आरोपी ने महिला के मोबाइल में अपनी सिम डाली थी। पड़ोसियों ने बताया कि 6 से सात महीने पहले कमलेश वहां किराये पर रहने आया था। वह मानसिक विकृत मालूम पड़ता था। आरोपी के घर महिलाओं का आना जाना लगा रहता था। क्यूं आती थीं पता नहीं चल सका है। आरोपी रात रात भर गायब रहता था। पत्नी मूक बधिर है। आरोपी पहले चोरी के मामले में तीन-चार बार पकड़ा गया है। मकान में अभी ताला लगा है। पत्नी के बारे में कोई नहीं जानता की कहां गई। पड़ोसी बताते हैं कि वह उज्जैन के चामुंडा माता मंदिर के आसपास कहीं बैठती है। 

रिपोर्ट- बिजेंद्र यादव

Advertisement