फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशझूठी यह सब माया है...मंत्री पद जाते ही कथावाचक बने गोपाल भार्गव, भजन गाते हुए VIDEO वायरल

झूठी यह सब माया है...मंत्री पद जाते ही कथावाचक बने गोपाल भार्गव, भजन गाते हुए VIDEO वायरल

MP में 18 साल मंत्री रहे और सबसे सीनियर विधायक गोपाल भार्गव सागर जिले में भागवत कथा कर रहे हैं। मोहन सरकार में मंत्री पद न मिलने के बाद कथावाचक के रूप में भार्गव का वीडियो वायरल हो रहा है। VIDEO-

झूठी यह सब माया है...मंत्री पद जाते ही कथावाचक बने गोपाल भार्गव, भजन गाते हुए VIDEO वायरल
Abhishek Mishraलाइव हिन्दुस्तान,सागरThu, 25 Jan 2024 02:38 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री और 9 बार के विधायक गोपाल भार्गव एक बार फिर सुर्खियों में हैं। सूबे की मोहन सरकार में मंत्री पद न मिलने के बाद सबसे सीनियर विधायक का नया रूप सामने आया है। वायरल हो रहे एक वीडियो में गोपाल भार्गव कथावाचक के तौर पर नजर आ रहे हैं और भजन गा रहे हैं। बताया जा रहा है कि सागर जिले में श्रीमद भागवत कथा कर रहे हैं। 

जानकारी के अनुसार, सागर जिले के पटेरिया गांव में भागवत कथा का आयोजन किया गया है। इसमें पूर्व मंत्री पंडित गोपाल भार्गव व्यास गद्दी पर विराजमान हैं। पूर्व मंत्री भगवा वस्त्र धारण कर कथा कर रहे हैं। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक पर भजन गाते हुए एक वीडियो शेयर किया है। देखें VIDEO-

VIDEO में पूर्व मंत्री और वर्तमान विधायक गोपाल भार्गव 'झूठी दुनिया, झूठे बंधन, झूठी यह सब माया है' भजन गाते नजर आ रहे हैं। विधानसभा चुनाव के बाद सूबे में उनके सियासी कद में कांट-छांट से जोड़कर भी लोग इसे समझ रहे हैं। हालांकि, उन्होंने गीत से पहले इस बात का जिक्र किया कि राम मंदिर में भगवान की प्राण प्रतिष्ठा हो गई है और वो बचपन में एक गीत गाते थे, वही सुना रहे हैं। 

गौरतलब हो, वर्तमान में सूबे के सबसे सीनियर विधायक गोपाल भार्गव मध्य प्रदेश सरकार में 18 साल तक कैबिनेट मंत्री रहे। 2018 में कांग्रेस की जब सरकार बनी तब उन्हें नेता प्रतिपक्ष भी बनाया गया था। दोबारा जब भाजपा की सत्ता वापसी हुई तो उन्हें फिर मंत्री बनाया गया। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान प्रचार करते समय वो मुख्यमंत्री पद की दावेदारी भी करते नजर आ रहे थे लेकिन नई सरकार में उन्हें मंत्री पद भी नहीं मिला। भाजपा आला-कमान के इस निर्णय के बाद गोपाल भार्गव ने बयान दिया था जो खूब वायरल हुआ था। उन्होंने पार्टी के चयनकर्ताओं पर भी सवाल उठाए थे। मंत्री पद जाने के बाद भाजपा नेता का नया रोल चर्चा का विषय बना हुआ है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें