फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशनहीं किया प्रचार फिर भी जीत गया BJP कैंडिडेट, 38 साल से विधायक; कौन हैं गोपाल भार्गव

नहीं किया प्रचार फिर भी जीत गया BJP कैंडिडेट, 38 साल से विधायक; कौन हैं गोपाल भार्गव

रिकॉर्ड बनाने वाले विधायक का नाम गोपाल भार्गव है। विधायक गोपाल भार्गव ने लगातार 9 बार जीतकर रिकॉर्ड भी बनाया है। वह पिछले 38 सालों से विधायक हैं। पहली बार चुनाव जीतने के बाद गोपाल अजेय रहे हैं।

नहीं किया प्रचार फिर भी जीत गया BJP कैंडिडेट, 38 साल से विधायक; कौन हैं गोपाल भार्गव
Mohammad Azamलाइव हिंदुस्तान,भोपालSun, 03 Dec 2023 08:20 PM
ऐप पर पढ़ें

Gopal Bhargav: मध्य प्रदेश में आज चुनावी नतीजे आए। भाजपा को एमपी में प्रचंड बहुमत मिला है। इस दौरान एक प्रत्याशी की काफी चर्चा हो रही है। भारतीय जनता के इस प्रत्याशी ने बिना चुनाव प्रचार किए ही बड़ी जीत हासिल की है। रिकॉर्ड बनाने वाले विधायक का नाम गोपाल भार्गव है। विधायक गोपाल भार्गव ने लगातार 9 बार जीतकर रिकॉर्ड भी बनाया है। वह पिछले 38 सालों से विधायक हैं। पहली बार चुनाव जीतने के बाद उन्हें आजतक कोई नहीं हरा पाया है। आइये जानते हैं कौन हैं अब तक चुनावों में अजेय रहे भाजपा नेता गोपाल भार्गव।

चुनाव के दौरान अपने विधानसभा क्षेत्र में प्रचार न करने के लिए चर्चा में रहे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कद्दावर नेता गोपाल भार्गव ने रविवार को मध्य प्रदेश की रहली सीट से लगातार नौवीं जीत दर्ज की है। वहीं उनकी पार्टी प्रदेश में सत्ता बरकरार रखने की ओर आगे बढ़ रही है। 71 साल के गोपाल भार्गव ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी और कांग्रेस उम्मीदवार ज्योति पटेल को 72,800 वोटों से हराया। वह नई विधानसभा में सबसे अनुभवी विधायक होंगे।

कौन हैं गोपाल भार्गव
कमलनाथ की पिछली सरकार में विपक्षी दल के नेता भार्गव ने पहली बार 1985 में रहली से जीत हासिल की थी। तब से, वह अजेय रहे हैं। वह पिछले 38 सालों के दौरान इस विधानसभा सीट से सभी चुनाव जीते हैं। वर्ष 2003 से अलग-अलग विभागों के कैबिनेट मंत्री रहे भार्गव ने कहा है कि उन्हें प्रचार करने की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि वह पूरे पांच साल लोगों के लिए काम करने में विश्वास करते हैं।

दस बार विधायक रहे पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के दिवंगत नेता बाबूलाल गौर भोपाल के गोविंदपुरा से लगातार आठ बार जीते थे। वह भोपाल दक्षिण (अब भोपाल दक्षिण-पश्चिम) सीट से भी दो बार चुने गए थे। भाजपा के एक और पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत कैलाश जोशी ने देवास जिले की बागली सीट से 1962 से 1993 के बीच आठ विधानसभा चुनाव जीते थे।

राज्य की 230-सीट में से भाजपा ने अब तक 82 सीट जीत ली हैं और 81 सीट पर यह आगे है। कांग्रेस को 20 सीट मिल चुकी हैं और वह 46 पर आगे चल रही है। मध्य प्रदेश में भाजपा एक बार फिर से सरकार बनाने जा रही है। इस दौरान गोपाल भार्गव लगातार 9वीं बार चुनाव जीतकर मध्य प्रदेश विधानसभा में बैठेंगे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें