फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशयूं ही संकट मोचन नहीं कहलाते तोमर, खुद भी जीते और पार्टी का भरोसा भी रखा बरकरार

यूं ही संकट मोचन नहीं कहलाते तोमर, खुद भी जीते और पार्टी का भरोसा भी रखा बरकरार

madhya pradesh election result: मध्य प्रदेश चुनाव प्रसार समिति के संयोजक नरेंद्र सिंह तोमर ने बड़े अंतर से जीत दर्ज की है। सीएम पद की रेस में शामिल नेताओं में उनको भी गिना जा रहा है।

यूं ही संकट मोचन नहीं कहलाते तोमर, खुद भी जीते और पार्टी का भरोसा भी रखा बरकरार
Krishna Singhलाइव हिंदुस्तान,ग्वालियरSun, 03 Dec 2023 09:30 PM
ऐप पर पढ़ें

केंद्रीय कृषि मंत्री और मध्य प्रदेश चुनाव प्रसार समिति के संयोजक नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रचंड जीत दर्ज की है। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मुरैना जिले के दिमनी विधानसभा सीट से अपने निकटतम प्रतद्विंद्वी को 24 हजार से अधिक मतों से पराजित कर जीत हासिल कर ली है। नरेंद्र सिंह तोमर ने अपने निकटमतम प्रतद्विंद्वी बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी बलबीर सिंह डंडोतिया को 24,461 मतों से हरा दिया। यह सीट कांग्रेस के पास थी, जिस पर अब भाजपा ने कब्जा कर लिया है।

उन्होंने दिमनी विधानसभा से लगभग 24 हजार मतों से जीत हासिल की है। इसे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के सियासी कॅरियर की बड़ी जीत माना जा रहा है। चुनावी अभियान के दौरान जिस तरीके से उनके बेटे के वीडियो वायरल हुए थे, उससे सवाल खड़े होने लगे थे। इस जीत के साथ तोमर अब ग्वालियर चंबल अंचल में सीएम की रेस में शामिल हो गए हैं।

विधानसभा चुनाव में भाजपा ने उन्हें मध्य प्रदेश समिति का संयोजक बनाया था। पार्टी ने उन्हें प्रदेश के चुनावी अभियान की कमान सौंपी थी। तोमर ने तमाम व्यस्तताओं के बीच इन जिम्मेदारियों को बखूबी निभाया। उनके कौशल का ही कमाल है कि इन चुनावों में भाजपा का खेमा पूरी तरह एकजुट नजर आया। तोमर ने अपने तमाम सहयोगियों और राज्य के नेतृत्व को साधते हुए बेहतरीन काम किया।  

यही नहीं चुनाव की मतगणना के दौरान तोमर खुद सीएम शिवराज और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य साथ नजर आए। अटकलें है कि सूबे में यदि सीएम चेहरा बदलता है तो तोमर और सिंधिया भी रेस में होंगे। केंद्रीय मंत्री तोमर ने मतों के भारी अंतर से चुनाव जीता है।

नरेंद्र सिंह तोमर ने 79137 मतों के साथ चुनाव जीता है। उनके प्रतिद्वंद्वी बहुजन समाज पार्टी के बलवीर सिंह दंडोतिया को 54676 वोट मिले हैं। कांग्रेस ने नरेंद्र सिंह तोमर के खिलाफ रविंद्र सिंह तोमर (Ravindra Singh Tomar) को चुनाव मैदान में उतारा था। रविंद्र सिंह तोमर को महज 24006 वोट मिले। वह तीसरे स्थान पर खिसक गए। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें