फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशएमपी के शिवपुरी में मतदान के बाद खूनी संघर्ष, 3 की मौत, कई घायल; छावनी में तब्दील हुआ इलाका

एमपी के शिवपुरी में मतदान के बाद खूनी संघर्ष, 3 की मौत, कई घायल; छावनी में तब्दील हुआ इलाका

MP Election: मध्य प्रदेश के शिवपुरी मतदान के बाद खूनी संघर्ष की सनसनीखेज घटना तीन लोगों की मौत हो गई है जबकि दर्जन भर से अधिक लोग घायल हुए हैं। इलाके में सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई है।

एमपी के शिवपुरी में मतदान के बाद खूनी संघर्ष, 3 की मौत, कई घायल; छावनी में तब्दील हुआ इलाका
Krishna Singhलाइव हिंदुस्तान,शिवपुरीSat, 18 Nov 2023 06:49 PM
ऐप पर पढ़ें

मध्य प्रदेश के शिवपुरी मतदान के बाद खूनी संघर्ष की सनसनीखेज घटना सामने आई है। शिवपुरी जिले के नरवर थाना क्षेत्र के चकरामपुर गांव में 17 नवंबर को मतदान के बाद 2 गुटों में पुरानी रंजिश को लेकर खूनी संघर्ष हो गया। पथराव, आगजनी और गोलीकांड में दोनों गुटों के दर्जन भर से अधिक लोग घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए पहले नरवर फिर ग्वालियर रेफर किया गया था, जहां इलाज के दौरान शनिवार को ग्वालियर में एक महिला और 2 युवकों की मौत हो गई। हिंसा के बाद गांव में तनाव का माहौल है स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने गांव को छावनी में तब्दील कर दिया है। 

बताया जाता है कि योगेंद्र उर्फ गोला पुत्र मुन्ना भदौरिया का गांव के ही दिनेश कुशवाह से 2 माह पहले विवाद हो गया था। तभी से दोनों परिवारों में रंजिश चली आ रही थी। 17 नवंबर को वोटिंग के बाद रात में दोनों परिवारों के युवकों में पुरानी रंजिश को लेकर विवाद हो गया। इसके कुछ देर बाद ही दोनों गुटों के लोग आमने-सामने आ गए और एक-दूसरे पर पथराव शुरू कर दिया। फिर दोनों गुटों ने लाठी-डंडों से एक-दूसरे पर हमला कर दिया। इस दौरान गोलीबारी भी हुई। इसमें कुशवाह समाज के एक युवक को गोली लग गई।

खूनी संघर्ष में मुन्ना भदौरिया की पत्नी आशा देवी उम्र 55 वर्ष, भाई लक्ष्मण और हिमांशु सेंगर गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके अतिरिक्त मुन्ना भदौरिया के दो बेटे राजेंद्र भदौरिया और भोला भदौरिया घायल हुए थे। सभी घायलों को पहले नरवर के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। जहां से सभी घायलों को ग्वालियर रेफर कर दिया गया था। इस झगडे में मुन्ना भदौरिया की पत्नी आशादेवी और आशादेवी के भतीजे हिमांशु सेंगर और लक्ष्मण भदौरिया की ग्वालियर में मौत हो चुकी है।

कुशवाह परिवार के सदस्यों का उपचार भी ग्वालियर के अस्पताल में जारी है। करैरा एसडीओपी शिवनारायण मुकाती ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों पर बलवा सहित हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया है। एक पक्ष के तीन लोगों की मौत के बाद पुलिस ने अब हत्या की धारा बढ़ाकर मामले की जांच शुरू की है। एसपी रघुवंश सिंह भदोरिया भारी पुलिस बल के साथ गांव में मौजूद हैं। इस खूनी संघर्ष के दौरान हुई आगजनी में एक बोलेरो कार भी जलकर राख हो गई है।

इनपुट- अमित गौर

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें