फोटो गैलरी

Hindi News मध्य प्रदेशमिर्ची बाबा के सहारे MP चुनाव में अखिलेश यादव लगाएंगे नया तड़का, क्या हैं अटकलें

मिर्ची बाबा के सहारे MP चुनाव में अखिलेश यादव लगाएंगे नया तड़का, क्या हैं अटकलें

अखिलेश यादव की इस बधाई के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि मिर्ची बाबा बुदनी में सीएम शिवराज सिंह चौहान के सामने चुनावी मैदान में उतर सकते हैं। बता दें कि बुदनी से एक और विजय नंदन भी चुनावी ताल ठोंक रहे

मिर्ची बाबा के सहारे MP चुनाव में अखिलेश यादव लगाएंगे नया तड़का, क्या हैं अटकलें
Swati Kumariलाइव हिंदुस्तान,भोपालTue, 24 Oct 2023 07:17 PM
ऐप पर पढ़ें

Madhya Pradesh Assembly Elections: मध्य प्रदेश में चुनावी समर के बीच मिर्ची बाबा ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव से मुलाकात कर राजनीतिक सरगर्मी बढ़ा दी है। अखिलेश यादव ने सोमवार को मिर्ची बाबा से मुलाकात की फोटो ट्विटर पर शेयर की है। अखिलेश यादव से मिर्ची बाबा की इस मुलाकात के बाद मध्य प्रदेश की राजनीति में कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने मिर्ची बाबा चुनावी मैदान में उतर सकते हैं।  

समाजवादी पार्टी मिर्ची बाबा को बुधनी विधानसभा सीट से टिकट दे सकती हैं। इसकी वजह यह है कि जेल से बरी होने के बाद मिर्ची बाबा लगातार शिवराज सरकार पर हमलावर हैं। साथ ही वह सरकार पर साजिश के तहत फंसाने के आरोप लगाते रहे हैं। गौरतलब है कि कांग्रेस ने इस सीट से रामायण में हनुमान का किरदार निभाने वाले विक्रम मस्ताल को उम्मीदवार बनाया है। मिर्ची बाबा के मैदान में उतरने से मुकाबला त्रिकोणीय हो जाएगा। हालांकि बाबा अपनी तरफ से अभी कुछ नहीं कहा है। दरअसल, सोमवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मिर्ची बाबा से मुलाकात के बाद सोशल मीडिया पर एक फोटो शेयर करते हुए अखिलेश ने लिखा, 'मप्र के मिर्ची बाबा से एक शिष्टाचार भेंट और उनके मप्र विधानसभा में एक विशेष सीट से चुनाव लड़ने के लिए शुभकामनाएं।'

मालूम हो कि कभी दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के करीबी रहे मिर्ची बाबा ने अब पाला बदल लिया है। पिछले विधानसभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस के लिए प्रचार किया था। कांग्रेस की सरकार बनने पर कमलनाथ ने उन्हें निगम का अध्यक्ष बना कर राज्य मंत्री का दर्जा दिया था। 

बता दें कि मिर्ची बाबा हाल ही में रेप के आरोप से बरी हुए हैं। रायसेन की 28 साल की महिला ने मिर्ची बाबा पर नशीली भभूति खिलाकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था। महिला ने 8 अगस्त को 2022 को भोपाल के महिला थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने जांच के बाद बाबा के खिलाफ रेप का केस दर्ज किया था और अगले दिन 9 अगस्त को ग्वालियर से उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। 13 महीने तक चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने दोष सिद्ध नहीं होने पर 6 सितंबर 2023 को उन्हें रिहा कर दिया। 

कांग्रेस सरकार के बाद बाबा के बुरे दिन
बीजेपी सरकार में गायों की रक्षा की मांग को लेकर मिर्ची बाबा ने सात दिनों तक अनशन किया था। लेकिन सरकार ने उनकी बातों को गंभीरता से नहीं लिया। बाद में उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा गौमूत्र और गंगाजल भेंट करने के बाद अपना अनशन ख़त्म  कर दिया। कमलनाथ सरकार गिरने के बाद मिर्ची बाबा का बुरा दौर शुरू हो गया। 2022 में 29 साल की महिला ने उन पर नशीली भभूति खिलाकर रेप का आरोप लगाया। बाबा लगभग 13 महीने जेल में रहे। बाद में कोर्ट ने उन्हें इस मामले में बरी कर दिया। इस दौरान उनकी कांग्रेस सरकार से तल्खी बढ़ गई। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने इस मामले में उनका साथ नहीं दिया।

अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव के ट्वीट के बाद संशय इस बात पर है कि मिर्ची बाबा कहां से चुनाव लड़ने वाले हैं। कई जानकारों का कहना है कि वह सीएम शिवराज के खिलाफ बुधनी सीट से मैदान में उतर सकते है। जबकि कुछ का कहना है कि वह छिंदवाड़ा से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं। इस बात की संभावना इसलिए भी है क्योंकि एमपी में कांग्रेस और सपा में तकरार है। दरअसल,  सीटों के बंटवारे को लेकर पूछे गए सवाल में कमलनाथ ने कहा था 'कौन अखिलेश'? 

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें